रिहायसी क्षेत्रों में चल रही हैं प्रदूषण युक्त फैक्ट्रियां

img

भरतपुर (डीग)
कस्बे में प्रदूषित युक्त टोस, ब्रेड, बिस्किट, पेटीस आदि की फैक्ट्रियां बिना किसी रोक-टोक के चल रही हैं। जो क्षेत्र के लोगों को बीमारियों का घर बना रही है। वहीं इन्हें खाने वाले भी बिमार हो रहे हैं। इस मामले को लेकर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष भगवान सिंह कोली ने स्वास्थ्य विभाग, नगर पालिका, प्रदूषण विभाग आदि को पत्र लिखकर इन अवैध फैक्ट्रियों को बंद कराने और कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है। दिलचस्प बात यह है कि स्वास्थ्य विभाग दिन रोज के ढिंढोरा पीट रहा है, कि मनुष्य को स्वास्थ्य वातावरण प्राप्त हो। लेकिन इन फैक्ट्रियों से निकलने वाला धुआं लोगों के जीवन के साथ खुलेआम खिलवाड़ कर रहा है। फैक्ट्रियों में जो टोस, बिस्किट, ब्रेड, पेटिज बनाई जा रही हैं वे निम्न स्तर की है, सड़े गले माल से यह तैयार हो रही है। जबकि लेनदेन के चलते स्वास्थ्य विभाग कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। इन फैक्ट्री मालिकों के कोई रजिस्ट्रेशन नहीं है। किसी भी प्रकार की कोई भी जीएसटी का कोई भी टैक्स का नंबर नहीं ले रखा है। चोरी-छिपे बिना किसी पैकिंग पर अपना नाम लिखें यह लोग सरेआम सप्लाई कर रहे हैं और मोटा मुनाफा कमा रहे हैं। अधिशासी अधिकारी मनीष शर्मा का कहना है कि -मेनें अभी चार्ज सभांला है ,अगर रिहायशी इलाकों में अवैध फैक्ट्रियां चल रही है और इनका कोई रजिस्ट्रेशन नहीं है तो प्रभावी ढंग से कार्रवाई की जाएगी।