मौसमी बीमारियों को लेकर सतर्क रहें चिकित्सक : चेतन चौहान

img

धौलपुर
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक का आयोजन सोमवार को अतिरिक्त जिला कलेक्टर चेतन चौहान की अध्यक्षता में जिला कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में किया गया। बैठक में मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना, नि:शुल्क जाँच योजना, टेलीमेडिसिन योजना एवं मौसमी बीमारियों पर चर्चा की गई साथ ही विभागीय कार्यक्रमों एवं गतिविधियों की प्रगति पर भी चर्चा की गई। उन्होंने बैठक में मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना एवं मुख्यमंत्री नि:शुल्क जाँच योजना पर चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि मरीजों को समय पर इन सुविधाओं का लाभ मिले इस प्रकार की व्यवस्था सुनिश्चित हो साथ ही अवधिपार दवाओं के सही तरह से निस्तारण करने के निर्देश भी बैठक में दिए। उन्होंने मौसमी बीमारियों को देखते हुए पानी के नमूने लेने, चिकित्सा संस्थानो पर स्टाफ के शत प्रतिशत ठहराव सुनिश्चित करने के निर्देश दिये साथ ही उन्होंने कहा किसी चिकित्सक के गैर हाजिरी में वैकल्पिक व्यवस्था भी हो ताकि संस्थान पर आने वाले मरीजों को समय पर सही उपचार मिल सके। बैठक के दौरान जुलाई माह से शुरू हो रहे खसरा-रुबेला टीकाकरण अभियान पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि टीकाकरण कार्यक्रम विभाग का बहुत ही महत्वपूर्ण विषय हैं इसके लिए चिकित्सा अधिकारी प्रभारी आवश्यक रूप से सेक्टर मीटिंग लेकर लगातार मोनिटरिंग करे साथ ही उन्होंने निर्धारित लक्ष्य प्राप्त नही करने वाले चिकित्सा अधिकारियों को नोटिस देने के निर्देश दिए। बैठक में उन्होंने कहा कि परिवार कल्याण कार्यक्रम की प्रगति के लिए आमजन तक संदेश पहुचना आवश्यक है इसके किये विभाग द्वारा जन जागरूकता का पर विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने परिवार कल्याण कार्यक्रमों में प्रगति लाने के लिए गैर सरकारी संगठनों के साथ कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए साथ ही वर्ष 2019-20 के परिवार कल्याण लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए अभी से फोकस करने के निर्देश दिए।बैठक में सभी चिकित्सा अधिकारी प्रभारियों को आरएमआरएस बैठक आवश्यक रूप से आयोजित करने के निर्देश दिए। जननी सुरक्षा योजना पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि इस योजना से संस्थागत प्रसव को बढ़ावा मिलता हैं इसलिए समय पर प्रोत्साहन राशि का भुगतान होना चाहिए। बैठक में उन्होंने कहा कि सभी चिकित्सा संस्थानों पर स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए। आमजन को सरकार कार्यक्रमों और योजनाओं को जानकारी होना आवश्यक हैं ताकि आमजन उनसे लाभान्वित हो सके। बैठक के दौरान सभी चिकित्सा अधिकारी प्रभारियों को चिकित्सा संस्थानो पर आने वाले मरीजों को मतदान के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान मतदान करने व करवाने की शपथ भी दिलवाई गई। बैठक के दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गोपाल प्रसाद गोयल, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. चेतराम मीणा, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. जनार्दन सिंह परमार सहित जिले के सभी चिकित्सा अधिकारी प्रभारी मौजूद रहे।