धौलपुर लिफ्ट सिंचाई एवं पेयजल परियोजना का कार्य युद्ध स्तर पर जारी

img

धौलपुर
जिले वासियों की वर्षों पुरानी मांग धौलपुर लिफ्ट सिंचाई एवं पेयजल परियोजना का कार्य युद्ध स्तर पर जारी। लिफ्ट परियोजना के कार्य का डांग विकास बोर्ड के अध्यक्ष जवाहर सिंह,जिला प्रमुख डॉ.धर्मपाल सिंह जादौन ने किया निरीक्षण। परियोजना जिले के लिए मील का पत्थर होगी साबित। जिले वासियो की वर्षों पुरानी मांग धौलपुर लिफ्ट सिंचाई एवं पेयजल परियोजना को सीएम वसुंधरा राजे ने हरी झंडी देकर निर्माण कार्य शुरू करा दिया हैं.धौलपुर लिफ्ट सिंचाई एवं पेयजल परियोजना का कार्य वर्तमान में युद्ध स्तर पर चल रहा हैं.परियोजना के कार्य को डांग विकास बोर्ड के अध्यक्ष जवाहर सिंह और जिला प्रमुख डॉ.धर्मपाल सिंह जादौन ने निरीक्षण कर निर्माणधीन कंपनी जीवीपीआरईएल एन्ड कृष्णा कॉर्पोरेशन जॉइंट वेंचर के आला अधिकारी बदन सिंह,संदीप शुक्ला मुशर्रफ हासिब के अलावा सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता विज्जोलाल शर्मा,प्रदीप चौधरी,राजेंद्र प्रसाद और राजकुमार सिंघल को परियोजना को तय समय में पूरा करने और कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए.डांग विकास बोर्ड के अध्यक्ष जवाहर सिंह और जिला प्रमुख डॉ.धर्मपाल सिंह जादौन ने राजाखेड़ा उप खंड के गांव मरैना और खेरली में चल रहे कार्य का भी निरीक्षण किया। हम आपको बता दे कि जिले के ग्रामीण लोगो की वर्षो पुरानी मांग थी कि चम्बल का पानी खेतो में सिंचाई के लिए मिले और चम्बल का पानी पीने के लिए मिले। चम्बल के पानी गांवों तक लाने के लिए पूर्व में आंदोलन भी किये गए,लेकिन किसी भी सरकार ने इस परियोजना को मंजूरी नहीं। किसानो की वर्षो पुरानी मांग को देखते हुए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने चम्बल का पानी गांवो तक पहुंचाने के लिए धौलपुर लिफ्ट सिंचाई एवं पेयजल परियोजना बनाई और इस परियोजना को मरैना गांव में 22 दिसंबर  को हरी झंडी दिखा कर शिलान्यास किया। सीएम वसुंधरा राजे के अथक प्रयासों से स्वीकृत धौलपुर लिफ्ट सिंचाई एवं पेयजल परियोजना जिले के लिए मील का पत्थर साबित होने वाली है.852 करोड़ की इस योजना को सीएम राजे ने पिछले वित्तीय वर्ष में स्वीकृत किया था.सन 2020 में इस योजना की क्रियान्विति के बाद धौलपुर जिले की सैपऊ,धौलपुर और राजाखेड़ा तहसील के 245 गांव को पेयजल और 42 हजार हैक्टेयर भूमि को सिचाई के लिए पानी उपलब्ध होगा। 1550 किलोमीटर लम्बी पाइप के जरिए चम्बल से पानी खेतों तक पहुंचाया जाएगा। सागरपाड़ा के पास चम्बल से पानी पहुंचाने के लिए पम्पिंग सैट,बाउंड्री का कार्य शुरू हो चुका हैं.परियोजना पूरी होने के बाद यह जिले के लिए मील का पत्थर होगी साबित।