गुर्जर आंदोलन : प्रदर्शनकारियों ने पुलिस वाहन फूंके, फायरिंग की, धारा 144 लागू

img

धौलपुर
पांच प्रतिशत आरक्षण मांग रहे गुर्जरों का आंदोलन रविवार को हिंसक हो गया। धौलपुर में महापंचायत के बाद गुर्जरों ने एनएच 3 जाम कर दिया। पुलिस के रोका तो वह हिंसा पर उतर आए और पथराव शुरू कर दिया। गुर्जरों ने पुलिस की गाडिय़ां फूंक दीं और हवाई फायरिंग की। भीड़ को हटाने के लिए पुलिस को भी हवाई फायरिंग करनी पड़ी। इस दौरान 6 पुलिसकर्मी घायल हो गए। शहर में गुर्जर समाज के लोगों ने आरक्षण की मांग को लेकर आज गुर्जर कॉलोनी में बैठक की। बैठक के बाद समाज के लोगों ने नेशनल हाईवे संख्या तीन को जाम करने का निर्णय लिया.बैठक करने के बाद में समाज के लोग नेशनल हाईवे संख्या 3 पर पहुंच गए और हाईवे को जाम कर दिया। जाम की सूचना पाकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेंद्र वर्मा मोके पर पहुंच गए.पुलिस ने गुर्जर समाज के लोगों से समझाइस कर जाम खुलवाने की कोशिस की। लेकिन इसी दौरान पुलिस उग्र हो गई और हाइवे जाम कर बैठे लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया। जिससे आंदोलनकारी उग्र हो गए और पुलिस पर पथराव कर दिया। आंदोलनकारी और पुलिस दोनों आमने सामने हो गए. आंदोलनकारियों ने देशी हथियारों से पुलिस पर हमले कर दिए। जिससे पुलिस को बेकफुट पर आना पड़ा। इसी दौरान पुलिस अधीक्षक अजय सिंह और जिला कलक्टर नेहा गिरी आरएसी जवानों और पुलिस बल के साथ मोके पर पहुंच गए। लेकिन आंदोलनकारियों का आक्रोश कम नहीं हुआ। हाइवे पर दोनों तरफ वाहनों की लम्बी कतारे लग गई। सड़क पर फसे लोग गाडिय़ों को छोड़कर जान बचाकर भागने लगे। उग्र भीड़ ने एडिशनल एसपी की गाडी सहित पुलिस की 3 गाडिय़ों में आग लगा दी। जिससे शहर में सनसनी फ़ैल गई। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने उग्र भीड़ पर काबू पाकर जाम को खुलबाया। घटना के बाद कलक्टर नेहा गिरी सहित प्रशासन के अधिकारी मोके पर मौजूद हैं। पुलिस और प्रशासन ने आंदोलनकारियों पर काबू पा लिया है। लेकिन हालत अभी भी तनावपूर्ण बने हुए है। पुलिस आंदोलनकारियों के चिन्हित ठिकानों पर भारी तादाद में पुलिस बल तैनात किया है। समाज के लोगों से वार्ता की,लेकिन आंदोलनकारियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने बचाव के लिए हवाई फायरिंग की और दोनों तरफ से भगदड़ मच गई.इसके बाद आक्रोशित आंदोलनकारियों ने पुलिस की 3 गाडिय़ों को आग के हवाले कर दिया। आंदोलनकारी नेशनल हाईवे संख्या 3 बैठे हुए और मौके पर भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात है। आगरा दिल्ली मुंबई मार्ग जाम होने से दोनों तरफ वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग गई है। पथराव में करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। एसपी अजय सिंह ने बताया कि आंदोलनकारियों पर जाम लगा दिया। जाम में प्राइवेट लोग महिलाये और बच्चे फस गए थे। उन लोगों की गाडिय़ों पर पथराव कर तोडना शुरू कर दिया था। पुलिस ने समझाइस की। लेकिन प्रदर्शनकारी उग्र हो गए और जबाब में पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। आंदोलनकारियों के हमले से आधा दर्जन पुलिस की जवान भी घायल हुए है। उग्र भीड़ ने पुलिस पर देशी हथियारों से पुलिस पर फायरिंग कर तीन पुलिस की गाडिय़ों में आग लगा दी। पुलिस ने भीड़ को खदेड़ कर जाम को खुलबा दिया। आंदोलनकारियों में कुछ लोगों की विडियो बनाकर पहचान कर ली है। जिनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। 

दौसा में भी जाम लगाने की चेतावनी
गुर्जर आरक्षण को लेकर 11 फरवरी सुबह 11 बजे से गुर्जरों की हाइवे पर जाम लगाने की चेतावनी के बाद रविवार को जिला प्रशासन व पुलिस गुर्जरों की रणनीति की गुप्त सूचना ले रही है। प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। सोमवार को नेशनल हाईवे जाम को लेकर गुर्जर समाज के लोग जगह जगह बैठकें ले रहे हैं। गांवों में जाकर गुर्जर समाज के लोगों से अधिकाधिक संख्या में आंदोलन में सक्रिय होने के लिए सम्पर्क कर रहे हैं। इधर, समाज ने अभी स्पष्ट नहीं किया है कि वे हाईवे पर किस स्थान पर जाम लगाएंगे। ऐसे में पुलिस का खुफिया तंत्र गुप्त सूचनाएं जुटाने में लगा है।