आमजन की सुनवाई के लिए प्रत्येक अधिकारी निर्धारित समय रखें : नेहा गिरि

img

धौलपुर
जन अभाव अभियोग निराकरण सतर्कता समिति मे दर्ज प्रकरण का निस्तारण एवं राज सरकार के महत्वाकांक्षी जनसुनवाई कार्यक्रम के तहत प्रत्येक माह के दूसरे गुरूवार को भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केन्द्र मे होने वाली जनसुनवाई में जिलेभर से आये लोगों की समस्याओं को जिला कलेक्टर नेहा गिरि ने सुनकर मौके पर ही जिला स्तरीय एवं उप खण्ड अधिकारियों को आमजन की समस्याओं को निराकरण करने के निर्देश दिए। जन सुनवाई कार्यक्रम मे जिला कलक्टर ने कहा कि आमजन की समस्याओं का निस्तारण करना हम सबकी जिम्मेदारी है। सभी अधिकारी समस्याओं को ध्यान पूर्वक सुनकर उनका समाधान किया जाना आवश्यक है। उन्होंने जन अभाव निराकरण सतर्कता समिति में 5 विचाराधीन परिवादों में से 1 का मौके पर निस्तारण किया गया। श्रीमती मनोज पत्नि त्रिलोकी कुशवाह निवासी सकवारा के बीपीएल सूची मे नाम जुड़वाने के प्रकरण मे उप खण्ड अधिकारी सैपऊ को पुन: सर्वे कर 7 दिवस मे अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा तथा सभी उप खण्ड अधिकारियों से बीपीएल सूची मे नाम जुड़वाने वाले व्यक्तियों की पुन: विस्तार पूर्वक जांच करने के निर्देश दिए। रश्मि जैन पत्नी विपन कुमार, हाकिम सिंह पहाडिय़ा फरासपुरा एवं श्रीमती शीला पत्नी राधेश्याम के परिवाद की जांच रिपोर्ट आने तक विचाराधीन रखा गया है। जनसुनवाई कार्यक्रम मे हैडपम्प, बीपीएल सूची मे नाम जुड़वाने, खंरजा निर्माण, अतिक्रमण आदि के प्रार्थना पत्रा प्राप्त हुए। परिवादों को सुनकर उन्होनें सम्बन्धित अधिकारियों को जल्द से जल्द निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनसुनवाई के जो भी प्रकरण है अधिकारी मौके पर जाकर देखे सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस साथ लेकर उनकी समस्याओं का निराकरण करें। अपनी जिम्मेदारी का भलिभॅात निर्वहन करते हुए एवं जनसुनवाई के प्रकरणों का गम्भीरता से लेते हुए उनका निराकरण करें। निजी व सार्वजनिक समस्याओं का समाधान करना हम सबका दायित्व एवं कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि अधिकारी एवं कर्मचारी काम को टालने की प्रवृति छोड़कर आमजन की समस्या को सुनकर उनका निराकरण करें। साथ ही लोगों के प्रति संवेदनशील बने जिससे आमजन को लाभ मिल सकें। उन्होंने कहा कि पटवारी एवं ग्राम विकास अधिकारी को अतिक्रमण पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। अतिक्रमण करने वालों की रिपोर्ट तुरन्त प्रभाव से उच्च अधिकारियों को भिजवाएं। सुनवाई के लिए प्रत्येक अधिकारी निर्धारित समय रखें एवं आमजन की समस्याओं को सुनकर उनका मौके पर निस्तारण करें। राज्य सरकार व केन्द्र सरकार के द्वारा संचालित योजनाओं का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करें। प्रचार-प्रसार के अभाव में योजनाओं के लाभ से आमजन वंचित रह जाते है। इसके लिए आमजन में विश्वास पैदा करना होगा। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर चेतन चौहान, मुख्य कार्यकारी अधिकारी शिवचरण मीणा, धौलपुर उपखण्ड अधिकारी भंवर लाल कांसोटिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र वर्मा, तहसीलदार धौलपुर चिरंजीलाल शर्मा सहित सम्बन्धित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।