सेक्टर मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारी बेहतर तालमेल से कार्य करें

img

धौलपुर
विधानसभा आम चुनाव 2018 हेतु भारत निर्वाचन आयोग से धौलपुर एवं राजाखेड़ा विधानसभा के लिए नियुक्त किये गये निर्वाचन पर्यवेक्षक एन0वी0एस0 राजपूत की बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। अधिकारियों की बैठक में चुनावी तैयारियों की विस्तार से समीक्षा की और स्वतंत्रा एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के रिटर्निग अधिकारियों समेत निर्वाचन से जुडे विभिन्न अधिकारियों को कडे निर्देश दिये। निर्वाचन पर्यवेक्षकों ने कहा कि सैक्टर मजिस्ट्रेटों और पुलिस अधिकारियों के बीच बेहतर तालमेल होना चाहिये। उन्हेांने कहा कि मतदान अधिकारी उस गांव,जहां उनका मतदान केन्द्र है, में कार्यरत सभी दूरभाषों की जानकारी प्राप्त कर लें, जिससे आवश्यकता पडने पर संचार संसाधनों के रूप में उनका इस्तेमाल किया जा सके। उन्होंने कहा कि मतदान वाले दिन कुछ स्थानों पर ईवीएम मशीनों के खराब होने की समस्याएं उत्पन्न हो सकती है,जिनसे निपटने के लिए पहले से ही कुछ ईवीएम मशीनें रिर्जव में रखने और खराब मशीनों को तत्परता से दुरस्त कराने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये ताकि जल्द ही ऐसी समस्या का समाधान हो सके। उन्होंने कहा कि किसी पोलिंग स्टेशन पर किसी पार्टी का स्लोगन मिले तों उसे गंभीरता से लेकर हटवाया जाये। वाहन की अनुमति देते समय शपथ पत्रा लिया जाये कि चुनाव वाहन का प्रयोग अन्य कार्य में नहीं किया जायेगा। किसी दूसरे कार्य करते पाये जाने परवाहन को सीज कर लिया जायेगा। वीडियोग्राफी को 24 घंटे के अन्दर देखकर कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करें। सभी अधिकारी चुनाव कार्य में गति से कार्य करें। जिले से लगी अन्य राज्यों की सीमा पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है। रिटर्निंग अधिकारी विधानसभा धौलपुर ने स्वतंत्रा, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण चुनाव के लिए की गई तैयारियों की विस्तार से जानकारी दी। उन्हेांने बताया कि मतदान प्रक्रिया से जुडे अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। असामजिक तत्वों एवं गुण्डा तत्वों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की गई है। उन्हेांने कहा कि कलेक्ट्रेट में निर्वाचन कन्ट्रोल रूम बनाया गया है। जहां निर्वाचन सम्बन्धी शिकायतें दर्ज की जाती हैं।