धौलपुर जिले में पर्यटन की विपुल संभावना : नेहा गिरि

img

सूचना केन्द्र में पर्यटन एवं विकास प्रदर्शनी का किया शुभारंभ

धौलपुर
धौलपुर जिले का स्थापना दिवस के मौके पर सोमवार को स्थानीय सूचना केन्द्र में पर्यटन एवं विकास प्रदर्शनी का शुभारंभ हुआ। प्रदर्शनी में धौलपुर जिले के विकास तथा पर्यटन महत्व के स्थलों को प्रदर्शित किया गया है। जिला कलक्टर नेहा गिरि ने पर्यटन एवं विकास प्रदर्शनी का शुभारंभ करते हुए कहा कि बीते सालों में धौलपुर जिले में चंहुमुखी विकास हुआ है। धौलपुर जिले में पर्यटन के विकास की भी विपुल संभावना है। उन्होंने कहा कि धौलपुर जिले की चंबल नदी में घडियाल एवं डाल्फिन जैसे दुर्लभ जलीय जीव मौजूद हैं। इसके अलावा तीर्थराज मचकुंड सरोवर, ऐतिहासिक शेरगढ दुर्ग, सूआ का किला, प्राचीन बावडियां एवं सरोवर तथा तालाबशाही जैसे पर्यटन महत्व के कई महत्वपूर्ण स्थल हैं। उन्होंने कहा कि धौलपुर जिले के पर्यटन स्थलों को समाहित करते हुए एक बुकलेट तथा ब्रोशर तैयार कराए जाएं। इस प्रचार सामग्री को दिल्ली एवं जयपुर समेत अन्य स्थानों पर भेजकर पर्यटकों को धौलपुर आने के लिए आकर्षित किया जा सकता है। पर्यटकों को आकर्षित करने तथा यहां की स्मृतियों को अपने साथ ले जाने के लिए ताजमहल की प्रतिकृति के जैसे ही घडियाल तथा डाल्फिन एवं धौलपुर के ऐतिहासिक स्थलों की प्रतिकृति तैयार की जाएं। 
उन्होंने चंबल रिवाइन्स, शेरगढ दुर्ग, मचकुंड सरोवर तथा निहाल टावर जैसे स्थलों के मॉडल तैयार कर उन्हें सार्वजनिक महत्व के स्थानों पर प्रदर्शित करने की कार्य योजना तैयार करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि पुरातत्व तथा पर्यटन विभाग के अधिकारियों की एक बैठक कर इस संबंध में पुख्ता कार्य योजना बनाकर जिले को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाए। उन्होंने सूचना केन्द्र में नवीन सभाकक्ष के निर्माण के लिए प्रस्ताव भिजवाने तथा पर्यटन के प्रति जागरुकता के संबंध में विचार गोष्ठी आयोजित करने के निर्देश भी दिए। इस मौके पर अतिरिक्त जिला कलक्टर चेतन चौहान, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद जितेन्द्र सिंह नरुका, शिक्षा विभाग के मुकेश गर्ग, दामोदर लाल मीणा समेत अन्य अधिकारी तथा मीडियाकर्मी मौजूद रहे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गोपाल प्रसाद गोयल तथा जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी राजकुमार मीणा,