अमित शाह देते हैं बचकाने और भड़काऊ बयान : मनीष तिवारी

img

जयपुर
जम्मू-कश्मीर में विधानसभा को भंग करने के मामले में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनीष तिवारी ने राज्यपाल पर देश के संविधान के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है। जयपुर में प्रदेश कांग्रेस कमेटी में आयोजित प्रेस वार्ता में तिवारी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने असंवैधानिक और अनैतिक तरीके से विधानसभा भंग की है, और यह सबकुछ पीएम नरेंद्र मोदी और पीएमओ के इशारे पर हुआ है। तिवारी ने कहा कि अगर विधानसभा भंग करनी ही थी, तो उस वक्त कर दी जाती, जब पीडीपी और भाजपा के बीच गठबंधन खत्म हुआ था। लेकिन इतने वक्त तक भाजपा ने जम्मू-कश्मीर में विधायकों को तोडऩे की कोशिश की। उन्होंने कहा कि यह भाजपा की मानसिकता रही है कि जब किसी प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने जा रही हो, तो लोकतांत्रिक प्रक्रिया को अपनाया जाता है, लेकिन जब भाजपा की सरकार नहीं बनती है, तो राज्यपाल की शक्तियों को दुरुपयोग करके लोकतंत्र की हत्या कर दी जाती है। तिवारी ने कहा कि भाजपा ने यह आरोप लगाया कि पीडीपी, एनसीपी और कांग्रेस के एक साथ सरकार बनाने की योजना पाकिस्तान में तय हुई है। लेकिन भाजपा यह आरोप पहले प्रमाणित करें, नहीं तो देश से माफी मांगे। तिवारी ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर आरोप लगाते हुए कहा कि शाह बचकाने और भड़काऊ बयान देते है। घुसपैठियों के सवाल पर तिवारी ने कहा कि पहले शाह यह बता दे कि मोदी सरकार ने अब तक किसने घुसपैठियों को देश से बाहर निकाला है।