कृष्ण रंग में कृष्ण लीलाओं के खूबसूरत दृश्य कैनवास पर किए जीवित

img

जयपुर
भगवान कृष्ण के जीवन से जुड़े कई खूबसूरत लीलाओं को विभिन्न आर्ट फॉम्र्स में कैनवास पर जीवित किया। कृष्ण की मोहक लीलाओं को प्रत्यक्ष देख वृन्दावन और गोकुल में बसने वाले कृष्ण प्रेम की लहर जग उठी। कुछ ऐसा अध्भुत नजारा था वल्र्ड आर्ट डे के दिवस पर जवाहर कला केंद्र की पारिजात 2 गैलरी में आयोजित हुई कला प्रदर्शनी कृष्ण रंग का। इस एक दिवसीय प्रदर्शनी में गुरु-शिष्या ने अपनी कारीगिरी का नमूना पेश किया। नन्हीं आर्टिस्ट कृष्णप्रिया और उनकी गुरु श्वेता श्रीधर ने कृष्ण लीला को साक्षात् किया। मुख्य अतिथि उमंग एनजीओ की डायरेक्टर दीपक कालरा, भारती भवन कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. आरती चिटकारिया, सेंट एंजेला सोफिया स्कूल की प्रिंसिपल सिस्टर आर्लीन, दर्शक कॉलेज ऑफ़ म्यूजिक एंड आर्ट्स से प्रमिला राजीव और राजीव भट्ट ने दीप प्रज्जवलित कर एग्जीबिशन की शुरुआत की। कार्यक्रम के दौरान शहर के जाने माने आर्टिस्ट श्वेता श्रीधर, शिप्रा वशिष्ठ और गोपाल भारती को कला जगत में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया। प्रदर्शनी में गुरु शिष्या की जोड़ी ने कुल 35 कारीगिरी शोकेस की। जिसमें सेंट एंजेला सोफिया स्कूल की पांचवीं कक्षा में पढ़ रही जयपुर की नन्हीं आर्टिस्ट कृष्णप्रिया ने अपनी 14 पेंटिंग्स को भगवान कृष्ण को समर्पित किया। उन कलाकृतियों में कृष्ण लीला में प्रसिद्ध हुए अन्य किरदारों के भाव प्रदर्शित किए गए। जिनमें कृष्ण-सुदामा, कृष्ण कंस, कृष्ण-राधा, कृष्ण-बलराम आदि ने कला प्रेमियों को आकर्षित किया।