कई टुकड़ों में बंटी हुई है कांग्रेस पार्टी : गजेन्द्र सिंह

img

जयपुर
केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस से प्रत्येक पायदान पर आगे है। सरकनी कांग्रेस का टिकट चाहने वाले उम्मीदवारों द्वारा सार्वजनिक की गई तोडफ़ोड़ लोकतंत्र का अपमान है। राजस्थान की कांग्रेस पार्टी ऊपर से नीचे तक कई टुकड़ों में बंटी हुई है। प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया से कांग्रेस पार्टी का चरित्र जनता के सामने आ गया है। शेखावत ने बीकानेर में हुई घटना पर टिप्पणी करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी के एक नेता द्वारा भारत माता की जय के नारे को रूकवाकर एक परिवार की अन्धभक्ति को प्राथमिकता देना निन्दनीय है। आज कांग्रेस पार्टी में पराक्रम के स्थान पर परिक्रमा की परम्परा है। उन्होंने राहुल गाँधी के पैराशूट वाले उम्मीदवारों के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि पैराशूट उम्मीदवारों की रस्सी काटने वाले राहुल गाँधी कैंची कहां भूल आये। सचिन पायलट के यूरिया सम्बन्धित बयान पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी लगातार झूठ पर झूठ बोलती आयी है। 4 वर्ष पहले यूरिया के लिए किसानों को लम्बी लाईन में खड़े रहकर इंतजार करना होता था, धक्का एवं लाठियाँ चलती थी, लेकिन भाजपा सरकार ने नीम कोटेड़ यूरिया का सफल प्रयोग करके यूरिया की कालाबाजारी पर रोक लगायी है। यूरिया नीम कोटेड़ होने से किसानों को सहजता से उपलब्ध होने लगी है। उन्होंने सचिन पायलट के दावों की पोल खोलते हुए कहा कि राजस्थान में यूरिया, डी.ए.पी. तथा एस.एस.पी. की उपलब्धता सरप्लस में है। खरीफ 2018 के लिए यूरिया की मांग 7.50 लाख मीट्रिक टन थी। इतनी ही मात्रा स्वीकृत करके पिछले वर्ष की 1.36 लाख मीट्रिक टन जोड़कर कुल उपलब्धता 8.47 लाख मीट्रिक टन रही। उल्लेखनीय है कि इसमें से उपयोग केवल 6.53 लाख मीट्रिक टन ही हुआ। इसी प्रकार डी.ए.पी., एस.एस.पी. व अन्य कॉम्पलेक्स भी सरप्लस रहे। शेखावत ने कहा कि रबी 2018-19 के लिए यूरिया की मांग 11.50 लाख मीट्रिक टन थी, जबकि 12 लाख मीट्रिक टन स्वीकृत की गई। डी.ए.पी., एस.एस.पी. व अन्य कॉम्पलेक्स भी मांग के अनुसार स्वीकृत किए गए। अब तक राज्य में मांग के अनुसार उर्वरकों की पर्याप्त उपलब्धता रही है। यूरिया की कीमतों पर प्रकाश ड़ालते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2010-11 में 5310/- रूपये प्रति मीट्रिक टन थी, जो कि वर्ष 2012 में बढ़कर 5360/- रूपये प्रति मीट्रिक टन हो गयी। वर्ष 2018 में यह कीमत 5377.80/- रूपये प्रति मीट्रिक टन है। सचिन पायलट झूठ बोलकर किसानों में सनसनी फैलाने का प्रयास कर रहे है। आज मतदाता जान चुका है कि कांग्रेस के पास मुद्दे नहीं है। इसलिए नेतृत्वविहीन कांग्रेस अस्पष्ट नीतियों के कारण लगातार झूठ बोल रही है। सचिन पायलट व यूनुस खान के टोंक से चुनाव लडऩे से सम्बन्धित सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यूनुस खान को टोंक से लड़वाना भाजपा का मास्टर स्ट्रोक है। शेखावत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में परिवार का भाव रहता है। हमारी पार्टी एकजुट है। उन्होंने सभी देशवासियो को देवोत्थान एकादशी, कालीदास जयंती, नामदेव जयंती तथा झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की जयंती पर शुभकामनाऐं भी दी।