जाति और मजहब की राजनीति करती है कांग्रेस: सुधांशु त्रिवेदी

img

जयपुर
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि मंच से विकास के नाम पर राजनीति का दावा करने की बात करने वाली कांग्रेस पार्टी बंद कमरों में जाति और मजहब की राजनीति कर रही है। कांग्रेस पार्टी किसी भी सीमा तक जातियों में विभाजन करके सŸाा प्राप्ति के लिए प्रपंच कर रही है। सी.पी. जोशी के वायरल वीडियो पर करारा प्रहार करते हुए त्रिवेदी ने कहा कि जोशी का बयान हिन्दु परम्पराओं का अपमान है। कांग्रेस ने पहले देश के संसाधनों को बांटने का काम किया है, फिर समाज को बांटने का प्रयास किया और अब साधु-साध्वियों को भी जाति में बांटने का काम कर रही हैं। सी.पी. जोशी और कांग्रेस पार्टी को जानकारी नहीं है कि हिन्दू परम्परा में महर्षि वेदव्यास, वाल्मिकी, मतंग ऋषि, संत रैदास, कबीर, नामदेव, रामदास, तिरूवल्लूवर जैसे श्रेष्ठ संत किस समाज के थे। इस बयान से एक बार पुनः साबित हो गया है कि कांग्रेस पार्टी को भारत और भारतीयता का कोई ज्ञान नहीं है। कांग्रेस पार्टी जाति की राजनीति के लिए भारत एवं हिन्दू धर्म के यथार्थ को तोड़ती है। खेद व्यक्त करने के विषय पर त्रिवेदी ने कहा कि सी.पी. जोशी खेद व्यक्त न करें बल्कि राहुल गाँधी से जाकर भगवान राम को हलफनामा देकर काल्पनिक बताने के लिए माफी मांगने व प्रायश्चित करने को कहें। इसी जयपुर की धरती से सुशील शिन्दे ने हिन्दुओं को आतंकवादी कहा था, इस बात के लिए माफी मांगने को कहें। अमेरिकी अधिकारियों के समक्ष राहुल ने हिन्दुओं को आतंकवाद से जोड़ने का प्रयास किया था, जिस बात के लिए सी.पी. जोशी राहुल गाँधी से माफी मांगने को कहें। त्रिवेदी ने कहा कि यह प्रमाणित करता है कि अपनी हार को तय जानकर ही कांग्रेसी नेता बौखलाहट में इस सीमा तक जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सी.पी. जोशी का यह बयान निन्दनीय है और जोशी यह स्पष्ट करें कि यह बयान ‘‘गफलत’’ में दिया गया है या ‘‘सियासत’’ में, ‘‘आदत’’ में दिया गया है या ‘‘शरारत’’ में दिया गया है।