कांग्रेस ने सस्पेंस किया खत्म चुनाव जीतने पर कौन बनेगा सीएम

img

जयपुर
विधानसभा चुनाव के मद्देनजऱ कांग्रेस के केंद्रीय नेताओं की बीजेपी सरकार पर हमलों का दौर जारी है। इसी कड़ी में रविवार को कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने जयपुर में प्रेसवार्ता की। जिसके दौरान उन्होनें कानून व्यवस्था को लेकर राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला। अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि महिला सीएम होने के बावजूद वसुंधरा सरकार में महिलाएं और बच्चे सुरक्षित नहीं है। अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि राजस्थान की साख देश भर में खराब हुई है। वहीं कांग्रेस में गुटबाजी और सीएम पद के चेहरे को लेकर मनु सिंघवी ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस बड़े बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है और अशोक गहलोत या सचिन पायलट में से कोई एक मुख्यमंत्री बनेगा। अखिल भारतीय कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कानून व्यवस्था को लेकर राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला। अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि राजस्थान में क़ानून व्यवस्था पूरी तरीक़े से चरमरा गई है सब कुछ राम भरोसे चल रहा है। जनता पूरी तरह से भाजपा सरकार की विदाई का मन बना चुकी है। अभिषेक मनु सिंघवी ने मीडिया के समक्ष अपराध के आंकड़े रखते हुए कहा कि मानव तस्करी के मामले में राजस्थान पश्चिम बंगाल के बाद दूसरे स्थान पर आ गया है। साइबर क्राइम के मामले में राजस्थान चौथे नंबर पर आ गया है। गुजरात तस्करी के ज़रिए शराब पहुंचाने का राजस्थान सबसे बड़ा माध्यम बन गया है। महिला मुख्यमंत्री होने के बावजूद यहां महिलाएं और बच्चे सुरक्षित नहीं है। औसतन रोज़ाना 10 दुष्कर्म के मामले सामने आ रहे हैं। दलितों के साथ अत्याचार की घटनाएं बढ़ी है। अपराध के मामले में जयपुर में व्यवस्था बदहाल है। सबसे खराब कानून व्यवस्था और क्राइम रेट के मामले में जयपुर देश में 5 बड़े शहरों में शामिल हो चुका है।जबकि राम मंदिर के मुद्दे पर अभिषेक मनु सिंघवी ने पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा कि देश में एक बार फिर से राम मंदिर के मुद्दे के ज़रिए राजनीति करने की कोशिश की जा रही है। सरकार की ओर से अध्यादेश लाने की बात कही जा रही है। लेकिन ऐसा क्यों होता है कि चुनाव जब आते हैं तब भाजपा और राम मंदिर के मुद्दे को फिर से जिंदा कर देती है और चुनाव जीतने के बाद चुनाव के बाद फिर से राम को बनवास भेज दिया जाता है। अध्यादेश लाने वाली सरकार 4 साल का हाथ ही इसका जवाब भी उन्हें जनता को देना चाहिए। राजस्थान में कांग्रेस की गुटबाजी और सीएम पद के चेहरे के सवाल पर अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि कांग्रेस के भीतर गुटबाज़ी जैसी कोई बात नहीं है। चुनाव से पहले कुछ अपवाद को छोड़कर कांग्रेस ने सीएम चेहरे को घोषित करने की परंपरा नहीं रही है। राजस्थान में कार्यकर्ताओं को और मीडिया को कुछ दिन और सब्र रखने की ज़रूरत है अशोक गहलोत और सचिन पायलट में से कोई 1 मुख्यमंत्री बनेगा। कथित सेक्स सीडी को लेकर सवाल पूछे जाने पर अभिषेक मनु सिंघवी उखड़े हुए नजर आए उन्होंने कहा कि इस बारे में कोर्ट का फैसला आ चुका है। सीडी फर्जी साबित हो चुकी है। उल्टे उन्होंने यह सवाल पूछने वाले पत्रकार से ही पर ही आरोप लगा दिया कि सवाल के लिए उन्होंने कितने पैसे लिए हैं। वहीं जानकारों की मानें तो विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस खास रणनीति के तहत केंद्रीय नेताओं को राजस्थान के रण में उतार रही है ताकि यहां सभी मुद्दों पर हमला कर बीजेपी को घेरने की रणनीति बनायी जा सके। बता दें इसी रणनीति के तहत कल कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और इसके बाद राज बब्बर जयपुर में प्रेस वार्ता करेंगे। जाहिर तौर पर भारतीय जनता पार्टी ने भी कांग्रेस के हमलों का जवाब देने के लिए खास रणनीति तैयार कर ली है।