दशहरे के बाद उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करने की तैयारी में है कांग्रेस

img

जयपुर
कांग्रेस में इस बार टिकट वितरण को लेकर भारी गहमागहमी का माहौल है, दावेदारों की भारी भीड़ के बीच टिकट वितरण के नए मापदंडों ने नेताओं में खलबली मचा दी है। कांग्रेस में इस बार पुराने टिकट वितरण का तरीका बहुत हद तक बदल दिया है। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक इस बार दो बार हारे हुए, उम्रदराज नेताओं और बड़े अंतराल से हारने वाले नेताओं के टिकट काटने के मापदंड तय कर दिए हैं। कुछ अपवादों को छोड़ लगातार दो बार और बड़े अंतराल से हारने वालों के टिकट कटना तय माना जा रह है। स्क्रीनिंग कमेटी लगाता उम्मीदवारों के पैनल पर मंथन कर रही है। कांग्रेस में इस बार टिकट वितरण का थ्री टियर फार्मूला बनाया है, इस फार्मूले केे तहत सर्वे एजेंसियों की रिपोर्ट, प्रभारियों की रिपोर्ट को टिकट वितरण का आधार बनाया जाएगा। इन दोनों रिपोर्ट को शक्ति एप से कार्यकर्ताओं की रायशुमारी से मिलाया जा रहा है। कांग्रेस मेेंं टिकट वितरण के नए मापदंडों ने कई पुराने नेताओं की टिकट संकट मेें पड़ सकती है। नए मापदंडों से करीब 50 नेता टिकट की दौड़ से बाहर हो रहे हैं। नए मापदंडों की कांग्रेस हलकों के भीतर जबर्दस्त चर्चाएं हैं। टिकट कटने की आशंका वाले नेताओं ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है और अपने सियासी आकाओं के जरिए हरसंभव लॉबिंग कर रहे हैं, कांग्रेस दशहरे के बाद उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करने की तैयारी में हैं, इसके लिए दिल्ली में मैराथन बैठकों का दौर जारी है। अब सबको कांग्रेस की पहली सूची का इंतजार है, लेकिन इस बार कांग्रेस के टिकट कई सियासी सुरमाओं को चौंका सकते हैं।