कांग्रेस अब कार्यकर्ताओं को ट्रैनिंग देने पर करेगी फोकस

img

  • कांग्रेस प्रशिक्षण विभाग को मजबूत करने की कवायद 
  • अजीत सिंह शेखावत और कुलदीप इंदौरा को प्रशिक्षण प्रमुख का जिम्मा 
  • कांग्रेस मेेंं नए आने वाले कार्यकर्ताओं को पार्टी की रीत नीति समझाने के लिए होगी ट्रेनिंग 
  • कांग्रेस ने पहली बार संगठन प्रभारी का पद भी बनाया 
  • चुनाव से ठीक पहले हुई संगठन प्रभारी और दो प्रशिक्षण प्रमुखों की नियुक्ति

जयपुर
कांग्रेस अब चुनावी जीतने की रणनीति के साथ साथ संगठन को मजूबत बनाने के काम पर भी फोकस करेगी। कार्यकर्ताओं को कांग्रेस की रीति नीति समझाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को ट्रैनिंग पर खाास जोर दिया जाएगा। कांग्रेस मास बेस पार्टी होने के कारण हर पार्टी और अलग अलग विचारधाराओं वाले लोग जुड़ते हैं, चुनावों के समय दूसरी पार्टियां छोड़कर भी कार्यकर्ता कांग्रेस में शामिल होते रहते हैं, दूसरी पार्टियों से कांग्रेस में आने वालों को पार्टी के बारे में न खास जानकारी दी जाती और न पार्टी की रीति नीति के बारे में समझाय जाता। इस कमी का कांग्रेस को कई बार नुकसान भी उठाना पड़ा है। इस खामी को दूर करने के लिए कांग्रेस ने अब ट्रैनिंग सेल को मजूबत करने का फैसला किया है। कांग्रेस ने प्रदेश महासचिव अजीत सिंह शेखावत और कुलदीप इंदौरा को प्रशिक्षण प्रमुख का जिम्मा दिया है। कांग्रेस ने चुनावों से ठीक पहले संगठन प्रभारी लगाया है, प्रदेश महासचिव महेश शर्मा को संगठन प्रभारी का जिम्मा दिया है। संगठन प्रभारी केंद्रीय नेतृत्व और प्रदेश अध्यक्ष के बीच सेतु का काम करने के साथ् साथ पार्टी के निर्देशों को ग्राउंड पर अमल में लाने की मॉनिटरिंग का जिम्मा देखेंगे। कांग्रेस ने संगठन की खामियों को दूर करने के लिए मिक्स मॉडल अपनाने की कवायद शुरु की है। पार्टी को मास बेस के साथ साथ सीमित रूप से कैडर बेस की तरफ करने का काम शुरु किया है। अब देखना होगा यह नया प्रयोग कांग्रेस संगठन को कितना मजबूत कर पाता है।