क्राफ्ट्स पैवेलियन में प्रदर्शित किये जा रहें हैं अनूठे हैंडीक्राफ्ट प्रोड्क्टस

img

जयपुर
डिग्गी पैलेस में चल रहे 'राजस्थान हेरिटेेज वीक-2018' के 'क्राफ्ट पैवेलियन' में 100 से भी अधिक स्टॉल्स पर अनूठे हैंडीक्राफ्ट प्रोड्क्टस् प्रदर्शित किये जा रहें है। ये प्रोड्क्टस् राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर पुरस्कृत आर्टिजन्स द्वारा तैयार किये गये हैं। इन विशेष कलेक्शन में बांधनी, कोटा डोरिया, ब्लॉक प्रिन्टिंग और राजस्थानी खादी में इण्डिगो ब्लू उपलब्ध है। राजकुमारी दीया कुमारी फाउण्डेशन, राजस्थान स्टेट हैण्डलूम डवलपमेंट कॉरपोरेशन, अवधेश कुमार, पुरूषोत्तम छीपा, दिशा शेखावत, खादी ग्रामोद्योग, सांझी आर्ट जैसे अन्य फैशन लेबल्स ने यहां साडिय़ां, चद्दर, बेडकवर्स, दुपट्टा, शर्टिंग मेटेरियल्स के अतिरिक्त राज्य में विभिन्ना स्थानों पर पहने जाने वाले जेवरात प्रदशत किए हैं। राजस्थान हेरिटेज वीक 26 अक्टूबर तक चलेगा। राजकुमारी दीया कुमारी फाउण्डेशन ने हैंडवर्क जैसे कशदाकारी, गोटा पत्ती काम पर आधारित प्रोडक्टस का निर्माण एवं सिलाई इस संगठन की महिलाओं द्वारा किया गया है। इस अवसर पर उन्होंने हस्त निर्मित उत्पाद जैसे एलीफेन्ट शो पीस, वॉल हैंगिंग और ज्वैलरी का प्रदर्शन किया है। इसके अलावा खादी से निर्मित कुर्तियां, शर्ट्स, जैकेट्स का प्रदर्शन स्टॉल्स पर किया गया है। फाउण्डेशन द्वारा सैम्पलिंग कार्य बादल महल में किया जाता है जबकि इनका निर्माण सवाईमाधोपुर में किया जाता है। ग्राम विकास एवं चेतना संस्थान बाडमेर का संस्थान है जो हस्तषिल्प को महिलाओं के लिए घरेलू रोजगार के रूप में प्रोत्साहित कर रहा है। इस संगठन के पास राजस्थान के सुदूर इलाकों की 20,000 महिला आर्टिजंस का विशाल नेटवर्क है। ये महिलाएं बैडशट्स, दुपट्टे, कुशन के अलावा अन्य अभिनव प्रोडक्टस् का निर्माण करती हैं। यह संगठन शहरी बाजारों के लिए पारम्परिक कलेक्षन का प्रदर्षन भी कर रहा है जिनमें सूफ, पाको और पैच कशदाकारी, एप्लीक और बाडमेर प्रिन्ट वर्क शामिल है।