सम्राट अकबर और मुगल सम्राज्ञी रुक्कया गुलाबी नगरी में

img

जयपुर
अगर कोई आपसे गहरा प्यार करे तो आपको ताकत मिलती है जबकि किसी से गहरा प्यार करने पर आपको साहस मिलता है! यह अभी तक की सबसे महान प्रेम गाथा, सलीम अनारकली के साथ सच साबित हुआ है। कलर्स दास्तान-ए-मोहब्बत सलीम अनारकली के साथ इस महान कलाकृति को पुनर्जीवित कर रहा है, एक ऐसा प्यार जिसने मुगल साम्राज्य की नींव तक को हिला दिया, एक युवराज और एक सुंदर रक्कासा का शाश्वात प्यार। सलीम अनारकली सुंदर मुगल युवराज सलीम (शहीर शेख) और मंत्रमुग्धा कर लेने वाली रक्कासा अनारकली (जिसका किरदार सोनारिका भडोरिया निभा रही हैं) की कहानी सुनाता है जिन्हों्ने दस्तूरों को चुनौती दी और अपने प्यार के लिए लडऩा कबूल किया। राइटर्स गैलेक्सी द्वारा निर्मित, इस धारावाहिक का प्रसारण होता है हर सोमवार से शुक्रवार रात 8.30 बजे कलर्स पर। मशहूर अभिनेता, शहबाज खान जो सम्राट अकबर का किरदार कर रहे हैं और तसनीम शेख जो रुक्कया का किरदार कर रही हैं, ने गुलाबी नगरी, जयपुर का दौरा किया। बाद में, वे अपने धारावाहिक की सफलता की दुआएं मांगने के लिए अजमेर शरीफ दरगाह भी गए। तसनीम शेख उर्फ रुक्कया का कहना था, मैं दास्तान-ए-मोहब्बत सलीम अनारकली जैसे भव्यत धारावाहिक का हिस्सा और मुगल सम्राज्ञी रुक्कया का किरदार निभाकर बनकर बहुत रोमांचित हूँ। रुक्कया एक महत्वांकाक्षी रानी थी जो मल्लिका-ए-हिंदुस्तान बनना चाहती थी। वो सम्राट अकबर की पहली पत्नी थी जो सम्राज्य पर हुकूमत करना चाहती थी, लेकिन वो अकबर को एक वारिस नहीं दे पाई और सलीम से बहुत असुरक्षित महसूस करती थी। वो एक बहुत दिलचस्पी और महत्वांकाक्षी किरदार है। धारावाहिक को प्रमोट करने के लिए, जयपुर आकर और अजमेर शरीफ दरगाह में दुआएं मांगकर मैं बहुत खुश हूँ। जयपुर की अत्यधिक समृद्ध संस्कृति है और अपनी शिल्पकृतियों के लिए जाना जाता है। मैं इस शहर की सैर करने की उम्मी्द कर रही हूँ। शहबाज खान उर्फ शहंशाह अकबर का कहना था, मेरी राय में, मुगल खानदान में अकबर का सबसे लोकप्रिय शासक होने का दावा किया और उसे एक शक्तिशाली राजा माना जाता है जो किसी भी रास्ते पर चलेगा और अपने राज्य के लिए किसी भी चुनौती का सामना करेगा। वह एक देखभाल और परवाह करने वाला पिता भी था लेकिन चूँकि उसे अपने साम्राज्य में हर किसी के साथ निष्पक्ष रहना था इसलिए वह अपने बेटे, सलीम के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए मजबूर था। मेरे लिए यह किरदार बहुत खास है क्योंकि मुझे ऐसा किरदार करने का मौका मिला है जिसकी इतना दमदार चाल-चलन है। यह निश्चित तौर पर एक खास किरदार है और मैं इसे बखूबी निभाने के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ कोशिश कर रहा हूँ। जयपुर में अपने आगमन के बारे में शहबाज का कहना था, मैं पहले भी कई बार जयपुर आ चुका हूँ और इस शहर की सफाई एवं जिंदादिली मुझे हमेशा अच्छी लगी है। मुझे यहां के स्थानीय पकवान भी बहुत पसंद हैं, जैसे दाल बाती चूरमा, मिस्सी रोटी, गट्टे की सब्जीम, केर सांगरी आदि। अजमेर शरीफ दरगाह से आशीष मांगना कुछ ऐसा है जो काफी लंबे समय से करना चाहता था और आज यह मौका मिलने पर बहुत आभारी हूँ। मौजूदा ट्रेक में, सलीम-अनारकली अंतत: एक-दूसरे के लिए अपना प्यार कबूल कर चुके हैं और इस तरह, एक मोहक किंतु ठगी से भरी प्रेम कहानी शुरु हो चुकी है। सलीम और अनारकली अपने प्रेमालाप का आनंद ले रहे हैं और एकसाथ अपने भविष्य पर चर्चा भी कर रहे हैं। बहरहाल, एक नया मोड़ आता है क्योंाकि हमीदा ने सुंदर युवराज और उसकी रक्कसा के बीच बढ़ रही प्यार की पींगों को भांप लिया है। इस पर साम्राज्य कैसे प्रतिक्रिया करेगा? क्या रुक्कया, सलीम की सौतेली मां सम्राट अकबर के साथ चालाकी से अपना काम निकालने के लिए इस मौके को इस्तेमाल करेगी और उससे ताज का वारिस नहीं बनने देगी? इस महान कलाकृति में अनुभवी कलाकारों का जमघट मौजूद है जैसे शहबाज खान अकबर का, गुरदीप कोहली पुँज जोधा का, तसनीम शेख रुक्कया का और अरुणा ईरानी हमीदा बेगम का किरदार निभा रही हैं। और अधिक जानने के लिए, देखना मत भूलिये यह महाकाव्य हर सोमवार से शुक्रवार रात 8.30 केवल कलर्स पर।