गहलोत सरकार की बड़ी सौगात : 1.74 करोड़ परिवारों को मिलेगा एक रुपए किलो गेहूं, स्वतंत्रता सैनानियों को मिलेंगे अब 30 हजार

img

जयपुर
सीएम अशोक गहलोत ने बिरला सभागर में गांधीवादी विचारक एसएन सुब्बाराव के जन्मदिन समारोह के मौके पर कई बड़ी घोषणाएं कीं। सीएम ने स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन 17 हजार से बढ़ाकर 30 हजार रुपए प्रतिमाह करने और मेडिकल भत्ता 4 हजार से बढ़ाकर 5 हजार रुपए प्रतिमाह करने की घोषणा की। सीएम ने द्वितीय विश्वयुद्ध के सैनिकों और उनकी विधवाओं की पेंशन 6 हजार से बढ़ाकर 10 हजार रुपए करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1.74 करोड़ बीपीएल और अंत्योदय परिवारों को 1 रुपए किलो गेंहू या अन्य अनाज मिलेगा। सीएम ने जयुपर में गांधी म्यूजियम बनाने की भी घोषणा की। सीएम ने अहिंसा और शांति विभाग या निदेशालय बनाने पर भी विचार करने का आश्वासन दिया। 

प्रदेश में बन सकता है अहिंसा और शांति पर विभाग 
प्रदेश में अहिंसा और शांति पर अलग से विभााग या निदेशालय बन सकता है। सीएम अशोक गहलोत ने इसके संकेत दिए हैं। गांधीवादी विचारक एनएस सुब्बाराव केे 91 वें जन्मदिवस समारोह में गांधीवादी विचारकों ने प्रदेश में अहिंसा और शांति के लिए अलग से विभाग खोलने की मांग रखी। इस पर सीएम अशोक गहलोत ने विचार करने का आश्वासन दिया। समारोह में गांधीवादी विचारक एनएस सुब्बाराव ने 17 भाषाओं मेें अलग अलग प्रदेशों के गीत पेश कर एक भारत की तस्वीर पेश की। सुब्बाराव ने कहा कि भाषा के आधार पर पाकिस्तान, सोवियत रूस जैसे देशों के टुकड़े हो गए लेकिन भारत में अनेकों भाषाएं है। और देश एक और अखंड है। गांधीवादियों के इस समारोह में स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान किया गया। सीएम अशोक गहलोत ने स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान किया। सीएम ने राजधानी में गांधी म्यूजियम की घोषणा और अहिंसा और शांति पर नए विभाग पर आश्वासन देकर गांधीवादी कार्यकर्ताओं की खूब तालियां बटोरी। कार्यक्रम में वक्ताओं के निशााने पर केंद्र और भाजपा सरकार रही। वक्ताओं ने देश के मौजूदा हालात को लेकर भाजपा और केंद्र पर जमकर निशाने साधे। शराबबंदी पर बोले सीएम अशोक गहलोत, कहा, यह काम प्रैक्टिकली अभी हम नहीं कर सकते 

शराबबंदी पर मेरी भावना वहीं है जो आपकी है : गहलोत
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में पूरी तरह शराबबंदी को व्यावहारिक नहीं बताया है, बिरला ऑडिटोरियम मेें गांधीवादी विचारक एसएन सुब्बारव के जन्मदिवस समारोह में गहलोत ने कहा कि शराबंबदी पर मेरी भावना वही है जो आपकी है, लेकिन यह काम प्रैक्टिकली हम नहीं कर सकते। गहलोत ने कहा कि गुजरात में केवल कागजों में शराबबंदी कर रखी है, गुजरात में अवैध रूप से भारी शराब बिकती है, चुनावों के दौरान मैने खुद वहां देखा। गहलोत ने शराबंदी के लिए नशन करते हुए जान देने वाले गुरुशरण छाबड़ा का जिक्र करते हुए पूर्ववर्ती भाजपा सरकार पर निशाना साधा। गहलोत ने हालांकि साफ रूप से यह मान लिया कि राजस्थान में शराबबंदी व्यवहारिक रूप से संभव नहीं है।