गहलोत ने खारिज किए एक्जिट पोल के नतीजे, कहा, ईवीएम में हो सकती है छेड़छाड़

img

  • देश में ईवीएम पर इतने सवाल उठ रहे हैं तो क्यों नहीं ईवीएम को ही खत्म कर दें 
  • सीएम ने चुनाव आयोग पर भी उठाए सवाल, कहा, चुनाव आयोग निष्पक्ष नहीं रहा 
  • गैर यूपीए दलों को साधने की जिम्मेदारी के सवाल पर बोले गहलोत
  • कहा, मुझे जिम्मेदारी सौंपने की खबर निराधार थी, मैं पहले हेडक्वार्टर में था तो गठबंधन को लेकर बात चल रही थी, अब केंद्रीय नेता ही बात कर रहे हैं
  • मध्यप्रदेश सहित सभी जगह कांग्रेस की सरकारें  मजबूत, भाजपा के मंसूबे पूरे नहीं होंगे  


जयपुर
सीएम अशोक गहलोत ने एक्जिट पोल के नतीजों को खारिज करते हुए कहा है कि वाजपेयी के वक्त भी एक्जिट पोल गलत साबित हो चुके हैं, उस समय एक्जिट पोल एनडीए की सरकार बनवा रहे थे और उसके बाद यूपीए सरकार 10 साल तक रही। हमारे सभी 25 उमीदवार कॉन्फिडेंट हैं। सीएम ने ईवीएम में छेड़छाड़ की आशंका जताते हुए कहा कि ईवीएम में टेम्परिंग हो सकती है, सुप्रीम कोर्ट भी कन्विंस हो चुका था कि ईवीएम में टेम्परिंग हो सकती है, इसीलिए तो वीवीपैट आया है, दुनिया के कई देशों में मशीन की बजाय बैलेट से चुनाव हो रहे हैं, देश में ईवीएम पर इतने सवाल उठ रहे हैं तो क्यों नहीं ईवीएम को ही खत्म कर दें। सुप्रीम कोर्ट जब मान चुका है टैंपरिंग हो सकती है तब ही वीवीपैट आया है तो क्यों नहीं दुनिया के तमाम मुल्कों में अमेरिका में, इंग्लैंड में, विकसित राष्ट्रों के अंदर यह मशीनें समाप्त हो गई है तो हिंदुस्तान जैसे मुल्क में संदेह पैदा हो गया जनता में और इतने बड़े डेमोक्रेटिक मुल्क के अंदर संदेह नहीं रहना चाहिए पब्लिक इंटरेस्ट में नहीं है और डेमोक्रेटिक इंटरेस्ट में नहीं है तो क्यों नहीं आप इसकी मशीन को ही खत्म कर दो ईवीएम के सिस्टम को खत्म कर दो यह मैंने खुद ने सवाल उठाया था यह सवाल आज पूरे देश में चर्चा में बना हुआ है और संदेह है बना हुआ है।  सीएम ने चुनाव आयोग पर भी सवाल उठाते हुए कहा, चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल ही नहीं उठ रहे हैं, निष्पक्ष रहा ही नहीं इलेक्शन कमीशन यह सिद्ध हो गया है, पूरे इलेक्शन के अंदर और आजादी के बाद में पहली बार जिस कदर इलेक्शन कमीशन के ऊपर आरोप लगे हैं ऐसे आरोप पहले कभी नहीं लगे थे, और कोई जवाब देते हुए नहीं बनता है इलेक्शन कमीशन के अंदर यह स्थिति बन गई है। 1 मेंबर का 4 पत्र लिखना कुछ मायने रखता है, सुप्रीम कोर्ट के चार जजेज का प्रेस कॉन्फ्रेंस करना मायने रखता है, सीबीआई, इनकम टैक्स, ईडी का दुरुपयोग मायने रखता है तो आप देश को किस दिशा में ले जाना चाहते हो पूरा मुल्क देख रहा है और इसीलिए मैं बार-बार कहता हूं मीडिया दबाव के अंदर है चाहते हुए भी सच नहीं दिखा पा रहा है। गैर यूपीए दलों के साथ गठबंधन की जिम्मेदारी की खबरों को खारिज करते हुए गहलोत ने कहा कि  मीडिया के एक वर्ग में मुझे जिम्मेदारी सौंपने की खबरें चली थीं, मुझे जिम्मेदारी सौंपने की खबर निराधार थी, मैं पहले हेडक्वार्टर में था तो गठबंधन को लेकर बात चल रही थी, अब केंद्रीय नेता ही बात कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में बहुमत साबित करने की भाजपा की मांग पर गहलोत ने पलटवार करते हुए कहा कि एमपी सहित सभी राज्यों में कांग्रेस सरकारें मजबूत हैं।