इंदिरा गांधी के नाम पर गहलोत सरकार लाएगी आठ योजनाएं

img

1000 करोड़ के इंदिरा प्रियदर्शनी फंड का बनाया मास्टर प्लान
उद्यमी महिलाओं को 25 फीसदी तक सब्सिडी देगी सरकार

जयपुर
प्रदेश की गहलोत सरकार जल्द ही पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नाम से आठ योजनाएं लॉन्च करने की तैयारी में है। पहले फेज में तीन योजनाएं लॉन्च होंगी, उसके बाद पांच योजनांए और लॉन्च की जाएंगी। पहले फेज में लॉन्च होने वाली प्रियदर्शनी महिला उद्यम योजना के तहत एकल महिलाओं और स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं को कारोबार करने के लिए 1 करोड़ तक के कर्ज दिए जाएंगे, उस कर्ज पर 25 फीसदी तक की सब्सिडी दी जाएगी। महिलाओं को कंप्यूटर और स्क्रिल डवलपमेंट की ट्रैनिंग के लिए भी दो योजनाएं लाई जा रही हैं। सीएम अशोक गहलोत ने बजट में महिलाओं के लिए 1000 करोड़ के इंदिरा प्रियदर्शनी फंड की घोषणा की थी। महिला बाल विकास विभाग ने इस फंड के तहत योजनाएं चलाने का मास्टर प्लान तैयार कर लिया है। इस फंड से पहले फेज में 3 योजनाएं आ रही है। महिला उद्यमियों को कर्ज और सब्सिडी की योजना में सालाना 500 महिलाओं को लाभान्वित किया जाएगा।  
प्रियदर्शनी महिला कम्प्यूटर प्रशिक्षण योजना बेसिक में 1 लाख महिलाओं को सालाना कम्प्यूटर और स्किल डवलपमेंट की ट्रैनिंग की प्रस्ताव है, इस पर सालाना 20 करोड़ खर्च होंगे। महिलाओं को टेली मार्केटिंग और कम्प्यूटर की एडवांस ट्रैनिंग की योजना में 5000 महिलाओं को हर साल एडवांस ट्रेनिंग दी जाएगी। भाजपा राज में जनसंघ संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम से कई योजनाओं का नामकरण किया गया था, अब कांग्रेस राज में गहलोत सरकार इंदिरा गांधी के नाम पर आठ योजनाएं महिलाओं के नाम पर बनाने की तैयारी में है। भाजपा इसे मुद्दा बना सकती है। 

इंदिरा गांधी से बड़ा महिला सशक्तिकरण का उदाहरण और कौन होगा: ममता भूपेश
महिला व बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्ररी इंदिरा गांधी से बड़ा महिला सशक्तिकरण का उदाहरण नहीं हो सकता, इसीलिए सरकार ने महिला सशक्तिकरण के लिए 1000 करोड़ का इंदिरा प्रियदर्शनी फंड बनाया, अब इस फंड का मास्टर प्लान बनाया है, इंदिरा गांधी के नाम से आठ योजनाएं शुरु होंगी।