एवरग्रीन देवआनन्द की स्मृति में संस्था का गठन, 26 को जयपुर में होगा आयोजन

img

जयपुर
गुलाबी शहर के कुछ लोगों ने साथ मिलकर दि एवरग्रीन देव आनन्द सोसायटी की स्थापना की है और फिल्म जगत के सदाबाहर कलाकार देव आनन्द की 65 वर्षों के जीवन को, जीवन्त करने के लिए, उनके 97वें जन्म दिवस पर एक दिवसीय फेस्टिवल का आयोजन करने जा रहे हैं। गुरुवार 26 सितम्बर, 2019 को यह फेस्टिवल जवाहर कला केन्द्र के तत्वाधान में, केन्द्र के ही परिसर में प्रात:10 बजे से रात्रि 9:30 बजे तक आयोजित किया जाएगा। देव आनन्द की जिन्दगी पल-पल बहती कलकल नदी थी, उसमें मोड़ तो खूब आए, लेकिन कभी विराम नहीं आया। हिन्दी फिल्मों के वे पहले ऐसे स्टार थे जिन्होंने दर्शकों को मोहब्बत की संजीदगी और रूमानियत सिखाई। देव आनन्द अपनी जिन्दगी के अंतिम समय तक फिल्मों में सक्रिय रहे। देव आनन्द अपने आपको इटरनल रोमांटिक व्यक्ति कहलाना ज्यादा पसंद करते थे। उन्होंने रोमानियत की नई परिभाषा गढ़ी। उनके इस मर्म पर आधारित उनकी आत्मकथा का अंतर्राष्ट्रीय संस्करण भी प्रकाशित हुआ, जिसका नाम था रोमांसिंग विद लाइफ। देव आनन्द की अनेक दुर्लभ तस्वीरें, फिल्म पोस्टर, बुकलेट, मैगजीन एवं रोचक जानकारियों पर आधारित एक विशिष्ट प्रदर्शनी. भारतीय सिनेमा की धरोहर को दशकों से संग्रह कर और सहज कर रखने वाले विख्यात राजेश कुमार सिंह द्वारा यह प्रदर्शनी तैयार की गई है। दरदर्शन के राजस्थान के प्रसिद्ध कार्यक्रम प्रश्नोत्तरी के लगातार प्रसारण के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड कायम करने वाले डॉ. महेन्द्र सुराणा, देव आनन्द पर आधारित एक खास प्रश्नोत्तरी भी, आगन्तुकों के बीच संचालित करेंगे। कृष्णायन एवं रंगायन ऑटिडोरियम में देश के चार फिल्म समीक्षक देव आनन्द के कृतित्व और व्यक्तित्व पर आयोजित समीक्षात्मक पैनल डिस्कशन में भाग लेंगे। शाम को रंगायन ऑडिटोरियम में देव आनन्द साहब की जिन्दगी के रोचक पलों पर बना एक वीडियो प्रेजेंटेशन (अ होमेज टू देव) दिखाया जाएगा। जिसमें जयपुर के बेहतरीन गायक उनके सुपर हिट नगमों की प्रस्तुति भी देंगे। इस एक दिवसीय फेस्टिवल में हिन्दी सिनेमा की जानी मानी अभिनेत्री ज़ीनत अमान भी शिरकत करेंगी। इस अवसर पर, सोसायटी द्वारा ज़ीनत अमान को दिदेव आनन्द अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। देव फेस्टिवल पर डाक विभाग, भारत सरकार द्वारा देव आनन्द पर एक स्पेशल कवर भी जारी किया जाएगा। इस एक दिवसीय फेस्टिवल में प्रवेश नि:शुल्क होगा। लेकिन सायं 6:30 बजे आयोजित होने वाले कार्यक्रम में प्रवेश निमंत्रण पत्र द्वारा ही होगा। इस फेस्टिवल के आयोजन में जिन्होने अपना सहयोग दिया है:- कला एवं संस्कृति विभाग, राजस्थान सरकार, जवाहर कला केन्द्र, वंडर सीमेंट, सुधीर माथुर, एस जी एम आउटडोर, सिटी वाइब्स, शकून होटल: लोटस डेयरी और ए लिटिल पैंटी।