मणिपाल विवि में करिक्यूलम कॉनक्लेव का शुभारंभ

img

जयपुर
मणिपाल विश्वविद्यालय जयपुर में एकेडेमिक रिफार्म के उद्देश्य से करिक्यूलम कॉनक्लेव वर्कशॉप का शुभारंभ 15 अक्टूबर को किया गया। मणिपाल विश्वविद्यालय जयपुर के चैअरपर्सन, प्रो. के. रामनारायण, एआईसीटीई के वाईस चैअरपर्सन, प्रो. एम. पी. पूनिया, एमयूजे के प्रेसिडेंट, प्रो. जी. के. प्रभु, प्रो. प्रेसिडेंट, प्रो. एन. एन. शर्मा, अल्ट्राटेक सीमेंट लिमिटेड के वाईस प्रेसिडेंट, प्रो. ए. के. तिवाड़ी, आईआईटी, जम्मू के निदेशक, प्रो. मनोज सिंह गौर ने दीप पज्ज्वलन कर किया। उद्घाटन अवसर पर विश्विद्यालय के चैअरपर्सन, प्रो. के. रामनाराण ने अपने उद्बोधन उद्बोधन में करिक्यूलम कॉनक्लेव के आयोजन पर खुशी व्यक्त की एवं कहा कि इससे करिक्यूलम डिजाईन को नई गति मिलेगी। प्रो. एम. पी. पूनिया ने इंजिनियरिंग करिक्यूलम पर विस्तार से प्रकाश डाला। प्रो. ए. के. तिवाड़ी ने करिक्यूलम का इंडस्ट्री की आवश्यकता के अनुरूप तैयार करने पर बल दिया। प्रो. मनोज सिंह ने तकनीकी शिक्षा में करिक्यूलम में सुधार की आवश्यकता बल दिया। विश्वविद्यालय के प्रेसिडेंट, प्रो. जी. के. प्रभु ने करिक्यूलम कॉनक्लेव के महत्व के बारे में बताया एंव इसके आने वाले समय में उपयोगिता पर अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के आरंभ में विश्वविद्यालय के प्रो-प्रेसिडेंट, प्रो. एन. एन. शर्मा ने स्वागत उद्बोधन से सभी अतिथियों का स्वागत किया। इसी क्रम में फेकल्टी सदस्यों एवं विद्यार्थियों ने इंजिनियरिंग की विभिन्न शाखाओं में संचालित विषयों के करिक्यूलम के संबंध में प्रजन्टेषन्स दिए। प्रजन्टेषन के बाद एक्सपर्ट प्रो. एम.पी. पूनिया, प्रो. ए. के. तीवाड़ी एवं प्रो. मनोज सिंह ने विभिन्न विषायों के करिक्यूल्म को लेकर अपनी सिफारिषे दीं। कानक्लेव के मोडरेटर एवं मणिपाल एकेडेमी ऑफ हायर एजुकेशन के रजिस्टार इवेलव्यूलेषन, डॉ. विनोद थॉमस ने पूरे दिन के प्रजन्टेषन को सारगर्भीत रूप से प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के अंत में रजिस्ट्रार प्रो. वंदना सुहाग ने सभी को धन्यवाद दिया।