गायनी में पहली बार थ्री डी तकनीक से हुई लाइव सर्जरी

img

जयपुर
तीन बार सीजेरियन के बाद टीएलसी काफी जटिल होती है। लेकिन थ्री डी तकनीक से यह सर्जरी सफल की गई। सूर्या हॉस्पिटल में थ्री डी तकनीक से की गई इस सर्जरी को प्रदेश भर से आए गायनिक सर्जन्स ने देखा और सीखा। मौका था सूर्या हॉस्पिटल, जयपुर ओब्स और गायनी सोसायटी की ओर से रविवार को आयोजित थ्री डी एंडो गायनी सर्जिकल वर्कशॉप का। वर्कशॉप के दौरान डॉ.वर्टी ने बताया कि कई केस इतने जटिल होते हैं कि उन्हें सामान्य तकनीक से किया जाना संभव नहीं होता। पहले ओपन सर्जरी होती थी लेकिन अब वे लगभग बंद हे गई हैं। इसी तरह विज्ञान के युग में निरंतर नई तकनीक आ रही हैं और हमें उनका इस्तेमाल कर आमजन को बचाना ही होगा। जितना जटिल केस होगा, उसमें नई तकनीक से ही मरीज को बचाया जाना संभव होगा। सूर्या हॉस्पिटल की डॉ. सुहासिनी ने बताया कि आज महिलाएं सर्जरी से काफी घबराती हैं, जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए। महिलाओं में ओवेर कैंसर काफी बढ़ रहा है, जिसके प्रति उन्हें अवेयर रहना चाहिए।