होण्डा का राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा अभियान जयपुर में पहुंचा

img

जयपुर
होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्रा लिमिटेड ने जयपुर में अपने राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा जागरुकता अभियान का आयोजन किया। युवाओं में सुरक्षित राइडिंग की आदतों को प्रोत्साहित करने के लिए होण्डा की इस तीन दिवसीय पहल ने जयपुर स्थित एस.एस. जैन सुबोध लॉ कॉलेज में 1500 से अधिक छात्रों को शिक्षित किया। देश भर के युवाओं को सुरक्षित राइडिंग के बारे में जागरुक बनाने के लिए होण्डा ने जनवरी 2019 में अखिल भारतीय राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा अभियान की शुरूआत की है। इस पहल के माध्यम से होण्डा हर माह शहरों के 10 कॉलेजों के 15,000 से अधिक कॉलेज छात्रों तक पहुंच रही है। अपनी शुरूआत के बाद से होण्डा की यह पहल अब तक 29 शहरों के 53,000 से अधिक कॉलेज छात्रों को जागरुक बना चुकी है और अब इस अभियान को जयपुर लेकर आई है। इस पहल के बारे में बात करते हुए प्रभु नागराज, वाईस प्रेज़ीडेन्ट, ब्राण्ड एण्ड कम्युनिकेशन, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्रा लिमिटेड ने कहा, ''सुरक्षा होण्डा की मुख्य प्राथमिकता है और हमारे कोरपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व का मुख्य स्तंभ है। इस प्रतिबद्धता को सशक्त बनाते हुए हमने जयपुर के युवाओं में सुरक्षित राइडिंग की आदतों को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा अभियान का आयोजन किया है। इस विशाल अभियान के माध्यम से कॉलेज के युवा छात्र होण्डा के साथ सड़क सुरक्षा की शपथ ले रहे हैं और अपने दैनिक जीवन में सुरक्षित राइडिंग की आदतों को अपना रहे हैं। हम युवा राइडर्स में सुरक्षा की आदतों को प्रोत्साहित करना चाहते हैं, आने वाले समय में होण्डा देश भर के अन्य शहरों में इस पहल का विस्तार करेगी। 

सड़क सुरक्षा के लिए होण्डा की सीएसआर प्रतिबद्धता: 
होण्डा दुनिया भर में सड़क सुरक्षा को प्राथमिकता देती है। अपने कोरपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत भारत में होण्डा 2001 में अपनी शुरूआत से सड़क सुरक्षा को बढ़ावा दे रही है और 25 लाख से ज़्यादा भारतीयों को सड़क सुरक्षा पर जागरुक बना चुकी है। आज भारतीय लोग होण्डा के सुरक्षित राइडिंग एवं टेऊनिंग प्रोग्राम के ज़रिए स्वतन्त्र और सुरक्षित राइडर बन रहे हैं। इसके लिए देश भर में होण्डा के कुल 14 टैऊफिक पार्क (दिल्ली Ó 2, चण्डीगढ़, लुधियाना, जयपुर, भुवनेश्वर, कटक, येओला, हैदराबाद, इन्दौर, कोयम्बटूर, तिरूचिरापल्ली, करनाल और थाणे) हैं।