जयपुर में जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन के तीसरे संस्करण का आयोजन हुआ

img

जयपुर
जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन का अंतिम चरण जयपुर में रविवार को संपन्न हुआ। इसके पिछले संस्करणों की तरह ही जयपुर में भी धावकों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। इसमें 4400 धावक, 41 स्कूल और 800 दिव्यांग शामिल हुए, जिनने इसे अपना पूरा सहयोग दिया। जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन में एक ही स्थान पर इतिहास में यह सबसे बड़ी संख्या थी। जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन के तीसरे संस्करण की शुरुआत 7 अक्टूबर से हुई। इसका पहला चरण कोटा में आयोजित हुआ, जिसके बाद उदयपुर, जोधपुर, अजमेर होते हुए आज इसका समापन जयपुर में हुआ। पिछले दो एडिशंस की सफलता के बाद जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन ने अपना तीसरा चरण लॉन्च किया। रन 5 दिनों में राजस्थान के 5 शहरों - कोटा, उदयपुर, अजमेर, जोधपुर और जयपुर में आयोजित हुआ। जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन में जयपुर पांचवां शहर था और इसमें 800 से अधिक दिव्यांगों, 41 स्कूलों और 4400 से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया। इस रन में 10 गैर-सरकारी संगठनों ने हिस्सा लिया। जयपुर में रन के बाद दिव्यांग सहित प्रतिभागियों ने स्वच्छता अभियान भी संचालित किया। जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन को प्रेरणा स्वार्थरहित सेवा से मिली है। इसे करने का विचार कारगिल युद्ध में हिस्सा लेने वाले मेजर डीपी सिंह ने दिया। मेजर सिंह भारत के पहले ब्लेड रनर भी हैं और उनका नाम लिम्का बुक आफ रिकाड्र्स में भी दर्ज है। वे 26 से अधिक मैराथन दौड़ चुके हैं। इस रन को आयोजित करने के पीछे दो मुख्य संकल्पनाएं हैं - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वच्छ भारत अभियान और दिव्यांगों को समाज में बराबरी का स्थान दिलाना। जेके सीमेंट के स्पेशल एक्जीक्यूटिव राघवपत सिंहानिया ने कहा, ''हमें जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी का तीसरा संस्करण आयोजित करते हुए गर्व हो रहा है। यह अब तक का सबसे बड़ा संस्करण है। इसे करने का ध्येय यह है कि इसे टीयर-1 शहरों से आगे ले जाकर छोटे कस्बों तक पहुँचाया जाए ताकि इसमें लोग शिरकत कर सकें। जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन इस मायने में खास है कि ये दो मंचों पर जागरूकता फैलाती है- स्वच्छ भारत अभियान और दिव्यांगों के प्रति। हमें पूरा विश्वास है कि अधिक से अधिक लोग बेहतर भारत के भविष्य के लिए इसमें शामिल होंगे।इस ईवेंट में रन की दो श्रेणियां हैं - पांच किलोमीटर और तीन किलोमीटर। यह दोनों रेस समयबद्ध हैं और इसमें कोई भी हिस्सा ले सकता है। तीन किलोमीटर की दौड़ खासतौर से स्कूली बच्चों या छोटी दूरी दौडऩे के इच्छुकों की भागीदारी बढ़ाने के लिए आयोजित की गई थी। दौड़ में हिस्सा लेने के बाद मेजर सिंह ने कहा, ''रन का महत्व देखते हुए हम लोगों के द्वारा इसमें बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने से उत्साहित हैं। देश भर के दिव्यांगों में आत्मविश्वास लाने की बहुत जरूरत है। साथ ही समाज में उनके प्रति बदलाव लाने की जरूरत है। दिव्यांगों में छुपी क्षमताओं को सभी के सामने लाने की आवश्यकता है। मेरा पूरा विश्वास है कि जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन अपने लक्ष्यों को कहीं ज्यादा प्राप्त करेगी। जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन में कई गैरलाभकारी संस्थाओं ने भी इस पहल में सहयोग दिया, जिनमें 'द चैलेंजिंग वन्स' और 'फ्लैग्स ऑफ ऑनर' शामिल हैं। बीते दो सालों में जेके सीमेंट स्वच्छेबिल्टी रन की संकल्पना ने क्रांति का रूप ले लिया है। इसमें देश के 12 शहरों के 25 हजार से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया है। जेके सीमेंट संगठन केयर करता है। यह अपने कारोबार के परिचालन के दौरान संगठन की 'बेहतर दुनिया के निर्माणÓ की प्रतिबद्धता का ध्यान रखता है। इसकी प्रतिबद्धताओं में ग्राहक, स्टेक होल्डर, कर्मचारी और समुदाय हैं।

जेके सीमेंट लिमिटेड के बारे में:
129 वर्ष पुराने मल्टी-डिसिप्लिनरी औद्योगिक समूह, जेके ऑर्गेनाईज़ेशन द्वारा स्थापित जेके सीमेंट देश में सीमेंट के सर्वोच्च दस उत्पादकों में से एक है। कंपनी को सीमेंट निर्माण उद्योग में चार दशक से अधिक समय का अनुभव है। इसके ग्रे सीमेंट प्लांट निम्बाहेड़ा, मंगरोल और गोटन, राजस्थान, मुद्दापुर, कर्नाटक और झज्झर, हरियाणा में हैं, जिनकी संयुक्त क्षमता 10.5 मीट्रिक टन प्रतिवर्ष है। कंपनी भारत में व्हाईट सीमेंट के 2 उत्पादकों में से एक है, जिसकी क्षमता 0.6 मीट्रिक टन प्रतिवर्ष है। जेके व्हाईट सीमेंट देश में दूसरा सबसे बड़ा निर्माता है। इसके अन्य उत्पादों में जेके वॉल पुट्टी, जेके प्राईमैक्स एक्स हैं। कंपनी दुनिया के 33 देशों में व्हाईट सीमेंट का निर्यात करती है। भारत में मजबूत पकड़ स्थापित करने के बाद, कंपनी ने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय विस्तार फुजायराह, यूएई में फ्री ट्रेड ज़ोन में ग्रीनफील्ड ड्युअल प्रोसेस व्हाईट सीमेंट-कम-ग्रे सीमेंट प्लांट की स्थापना के साथ किया। यह प्लांट जीसीसी एवं अफ्रीकी देशों को सेवाएं प्रदान करता है। यह प्लांट शुरु हो जाने के बाद कंपनी दुनिया में व्हाईट सीमेंट की तीसरी सबसे बड़ी निर्माता बन गई है। कंपनी की शक्तियों में बेहतर उत्पाद और मजबूत ब्रांड नेम, विस्तृत मार्केटिंग एवं वितरण नेटवर्क और उनकी तकनीकी ज्ञान है।