रैली में तीसरे मोर्चे की घोषणा, तिवाड़ी व सपा के साथ मिलकर लड़ेंगे चुनाव

img

जयपुर
राजधानी जयपुर में हुंकार रैली करके निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल ने अपनी ताकत दिखााने का प्रयास किया। मानसरोवर के वीटी रोड स्टेडियम में हुई हुंकार रैली में बेनीवाल ने पार्टी की घोषणा की। बेनीवाल की पार्टी का नाम राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी है और इसका चुनाव चिन्ह बोतल होगा। हुंकार रैली में नई पाार्टी के साथ ही तीसरे मोर्चे के लिए गठबंधन की घोषणा की गई। राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी, भारत वाहिनी पार्टी के अध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी और समाजवादी पार्टी के नेताओं ने रैली में साथ मिलकर चुनाव लडऩे की घोषणा की। घनश्याम तिवाड़ी आरैर हनुमान बेनीवाल दोनों ने साथ मिलकर लडऩे और इस गठबंधन में और भी दलों को शामिल करने का दावा करके नया राजीनीतिक गठजोड़ उकरने के संकेत दिए। बेनीवाल की हुंकार रैली ने नए सियासी समीकरणों की आहट दे दी है। घनश्याम तिवाड़ी, हनुमान बेनीवाल और जयंत चौधरी ने एक सुर में किसानों से जुड़े मुद्दे उठाए, बेनीवाल तिवाड़ी ने कांग्रेस भाजपा को जमकर निशाने पर लिया और दावा किया कि राजस्थान में अब कांग्रेस भाजपा का एकाधिकार खत्म करके तीसरी ताकत का उदय हो गया है। इस नए गठबंधन में राष्ट्रीय लोकदल भी अपना खोया हुआ जनाधाार वापस पाने का अवसर देख रहा है। बेनीवाल की हुंकार रैली में जुटी भीड़ से नेता उत्साहित दिखे। इस रैली में  बने गठबंधन से नए सियासी समीकरणों की आहट मिल रही है। 

गठजोड़ में जाट-ब्राह्मण-दलित वोटों को साधने की कवायद आज के गठजोड़ में जाट—

ब्राह्मण—दलित वोटों को साधने की कवायद दिखी। बेनीवाल और तिवाड़ी लोकतांत्रिक मोर्चे के साथ भी संपर्क में है, ऐसे में यह गठबंधन और बड़ा हो सकता है, अगर ऐसा हुआ तो बहुत सी सीटों पर कांग्रेस भाजपा के समीकरण बिगड़ेंगे। इस गठबंधन में और कितने दल शामिल होते हैं, इस पर चुनावों के समीकरण निर्भर करेंगे, इतना तय है कि हुंकार रैली में मौजूद सभी पार्टियों के लिए गठबंधन  फायदे का सौदा माना जा रहा हैं, इस बार का चुनाव रोचक जरूर होगा। रैली के तुरंत बाद भारत वाहिनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी के श्याम नगर स्थित निजी आवास में आयोजित लंच में राष्ट्रीय लोक दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी, समाजवादी पार्टी से अखिलेश यादव के प्रतिनिधि के रूप में डॉ संजय लाठर व उत्तर प्रदेश की सपा सरकार में मंत्री रहे डॉ मीराजुद्दीन शामिल हुए। इस दौरान घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि इस बार विधानसभा में तीसरे मोर्चे का ल_ गडेगा और भाजपा-कांग्रेस को चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि तीसरे मोर्चे की सरकार बनने के बाद सबसे पहले वंचित वर्ग आरक्षण, युवा रोजगार, कर्ज मुक्त किसान, प्रदेश में चारों तरफ व्याप्त पेयजल की समस्या का स्थाई समाधान और ढ़ांचागत भ्रष्टाचार की समाप्ति का कार्य किया जायेगा।