यूपीए सरकार ने किया था सुरक्षा से समझौता : प्रकाश जावड़ेकर

img

जयपुर
केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री एवं प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर जी ने प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए 26/11 को मुम्बई हमले में जान गंवाने वाले शहीदों के प्रति संवेदना प्रकट की। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार की पहचान बम विस्फोट थे। यूपीए के 10 वर्ष के शासनकाल में 50 से अधिक स्थानों पर बम विस्फोट हुए, जिनमें 1400 से भी अधिक लोगों को जान गंवानी पड़ी तथा 4,000 से अधिक लोग घायल हुए। यूपीए की सरकार ने मजहबी राजनीति के कारण सुरक्षा से समझौता किया, जिससे आतंकवादियों को पनाह मिली। यूपीए की सरकार कमजोर सरकार थी। जावड़ेकर ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में बम विस्फोटों की घटनाओं पर रोक लगी है। हमारी सरकार ने आतंकवादियों के नेटवर्क को समाप्त किया है। उनको फाइनेन्स करने वालों पर जबरदस्त प्रहार किया है तथा ऑवर ग्राउण्ड सपोर्ट भी समाप्त किया है। जावड़ेकर ने कहा कि इसी जयपुर की धरती पर यूपीए सरकार के गृह मंत्री ने एआईसीसी की मीटिंग में हिन्दू आतंकवाद का जिक्र किया था तथा अमेरिकी अधिकारियों के सामने राहुल गाँधी ने मुस्लिम आतंकवाद से अधिक खतरनाक हिन्दू आतंकवाद को बताया था। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गाँधी अब मन्दिर-मन्दिर जा रहे है। कांग्रेस चुनाव के लिए जाति और धर्म का उपयोग कर रही है, जबकि रामसेतु मामले में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर इन्होंने ही भगवान राम को काल्पनिक पात्र बताया था। कांग्रेस की इस तरह की जाति और धर्म की राजनीति को देश की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी। कांग्रेस चुनाव में भाषा का स्तर गिरा रही है और भारतीय जनता पार्टी विकास के मुद्दे पर ही चुनाव लड़ेगी।