जयपुर के दूसरे इलाके में फैला जीका वायरस, पीडि़तों की संख्या 51 पहुंची                                          

img

जयपुर 
राजधानी में जीका वायरस संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। करीब 15 दिनों में जीका वायरस पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 51 पहुंच गई है, जिसमें 11 गर्भवती महिलाएं और छह हॉस्टल के छात्र शामिल हैं। इन मरीजों को विशेष निगरानी में रखा जा रहा है।
गंभीर बात यह है कि जीका वायरस एक क्षेत्र से निकलकर दूसरे क्षेत्र की ओर बढ़ गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आई टीम ने भी प्रभावित क्षेत्र में डेरा डाला हुआ है। प्रभावित क्षेत्रों में फोगिंग व एंटी लारवा एक्टिविटीज की जा रही है। राजस्थान चिकित्सा विभाग के अनुसार 30 पॉजिटिव मरीजों का इलाज कर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। साथ ही चेतावनी जारी की है कि प्रभावित क्षेत्रों में अन्य जगहों की गर्भवती महिलाएं बिलकुल भी न जाएं।
जानकारी के अनुसार नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मलेरिया रिसर्च की टीम प्रभावित क्षेत्रों में लगातार नमूने ले रही है। सबसे पहले 22 सितंबर को शास्त्री नगर की एक 85 वर्षीय बुजुर्ग महिला का जीका प्रभावित मामला सामने आया था। इसके बाद इसी क्षेत्र से एक के बाद एक मामले सामने आए, जिनमें 11 गर्भवती महिलाएं शामिल हैं।
अब ताजा मामलों में सिंधी कैम्प बस स्टेंड के नजदीक स्थित राजपूत हॉस्टल भी जीका संक्रमण की जद में आ गया है। इस हॉस्टल के छह छात्र पॉजिटिव पाए गए हैं। टीम ने सिंधी कैम्प बस अड्डे व आसपास के क्षेत्रों से अधिक से अधिक नमूने लेने शुरू कर दिए हैं। हॉस्टल को भी विशेष निगरानी में रखा जा रहा है।