महारानी बनकर नहीं बहू-बेटी बनकर प्रदेश की सेवा की : राजे

img

झालावाड़
मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि मुझे महारानी कहने वाले कांग्रेस के नेता नहीं जानते कि राजस्थान की जनता से मेरा रिश्ता बेटी और बहू का है। मैंने प्रदेश के कोने-कोने में जाकर बेटी-बहू के रूप में उनकी सेवा की है, महारानी बनकर नहीं। उन्होंने कहा कि हमें न तो जनता के सामने कभी झुकने में समस्या हुई और ना ही अपने बड़ों के सामने। कांग्रेस भी जनता के सामने झुकी होती तो आज उनकी ऐसी स्थिति नहीं होती। श्रीमती राजे गुरूवार को झालावाड़ के चौमहला में डग विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी कालूलाल मेघवाल, बकानी में खानपुर से प्रत्याशी नरेन्द्र नागर, कोटा के सुल्तानपुर में पीपल्दा प्रत्याशी ममता शर्मा और सवाई माधोपुर के शिवाड़ में खंडार के प्रत्याशी जितेन्द्र गोठवाल के समर्थन में चुनावी जनसभाओं को संबोधित कर रही थीं।मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस कांग्रेस ने आज तक अपने 50 साल का हिसाब नहीं दिया उस कांग्रेस के खिसियाए हुए नेता हमसे पूछ रहे हैं कि हमने पांच साल में क्या किया? क्या उन्हें नहीं पता कि पिछले पांच साल में प्रदेश की तस्वीर बदल चुकी है? भामाशाह योजना के कारण आज प्रदेश की महिलाएं अपने घर की मुखिया बन गई हैं? क्या वो नहीं जानते कि आज जरूरतमंदों को ऐसे निजी अस्पतालों में भी ईलाज मिल रहा है जहां वे कभी जाने की भी नहीं सोच सकते थे। श्रीमती राजे ने कहा कि कांग्रेस हमेशा मुद्दों से हटकर बात करती है। कभी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के माता-पिता के बारे में सवाल करती है तो कभी श्री अमित शाह के सामने मेरे झुककर नमस्कार करने पर आपत्ति करती है। कांग्रेस के पास अब यही मुद्दे बचे हैं जबकि भारतीय जनता पार्टी के लिए विकास ही सबसे बड़ा मुद्दा है। हम मुद्दों के लिए विकास से नहीं भटकते और ना ही मुद्दों के लिए शिष्टाचार को भूलते क्योंकि शिष्टाचार और संस्कार ही भाजपा की पहचान है।