सर्जिकल स्ट्राइक के 2 साल, पीएम मोदी ने आर्मी एक्जि़बिशन 'पराक्रम पर्व' का किया उद्घाटन

img

जोधपुर
28-29 सितंबर, 2016 की रात को जब भारतीय सेना के जवानों ने पाकिस्तान के अंदर घुसकर आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया था, तब पूरी दुनिया हैरान थी। देश ने सेना के जवानों के इस पराक्रम पर गर्व किया था। आज उस घटना को दो साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर प्रधानमंत्री जोधपुर पहुंचे हैं। पीएम मोदी ने जोधपुर में प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। जोधपुर के कोणार्क वॉर मेमोरियल पर शहीदों को नमन कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को पराक्रम पर्व की शुरुआत की। पाकिस्तान में घुस कर सर्जिकल स्ट्राइक के माध्यम से आतंकी ठिकानों को नष्ट करने के दो वर्ष पूरे होने पर भारतीय सेना पराक्रम पर्व मना रही है। पराक्रम पर्व 28 से 30 सितंबर तक चलेगा। पीएम मोदी ने कोणार्क स्टेडियम में हथियारों की प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। अब वे तीनों सेनाओं के टॉप कमांडर्स की कॉन्फेंस में हिस्सा ले रहे है। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण,रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भामरे,राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और सेनाध्यक्ष भी इस कांफ्रेंस में मौजूद है । देश में 2015 तक कमांडर कॉन्फ्रेंस दिल्ली में ही आयोजित होती थी। लेकिन पीएम मोदी ने 2016 में यह कॉन्फ्रेंस दिल्ली से बाहर सैन्य क्षेत्र के पोत आईएनएस विक्रमादित्य और 2017 में देहरादून स्थित इंडियन मिलट्री एकेडमी में शुरू करवाई। इसके बाद पहली बार एशिया के सबसे बड़े एयर बेस पर यह कॉन्फ्रेंस आयोजित हो रही है।पीएम मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण तीनों सेनाओं के प्रमुख से ऑपरेशनल तैयारियों पर चर्चा की। पीएम मोदी तीनों सेनाओं की सयुक्त कमान की युद्ध की तैयारियों को लेकर कमांडर्स से बात की। मौजूदा हालात में चीन औरपाकिस्तान की सामरिक तैयारियों, विश्व के मौजूदा हालात, महाशक्तियों की ऑपरेशनल तैयारियों के बारे में चर्चा की। साथ ही, इस कॉन्फ्रेंस में सेनाओं में हथियारों की कमी, नए हथियारों की खरीद, उनकी प्रक्रिया जल्दी शुरू करने और सभी प्रोजेक्ट में तेजी लाने को लेकर कमांडर्स पीएम को अवगत करावा। पीएम मोदी भी रक्षा को लेकर आने वाले दिनों में देश की क्या दिशा होगी इस पर अपना रुख सेनाओं के सामने रखा।