परदे के पीछे का परिवार ही है असली कलाकार : आर के वर्मा

img

कोटा
रेजोनेंस कोचिंग संस्थान का 19वां स्थापना दिवस गुरूवार को श्रीनाथपुरम ऑडिटोरियम में आयोजित गया। इस अवसर पर रेजोरेंस कोंचिंग संस्थान से जुड़े स्टाफ जो 5 व 10 वर्ष पूर्ण कर चुके है उन्हे सम्मानित किया गया। इस अवसर पर स्टाफ, फेक्लटी व उनके परिवार के सदस्यों ने रात भर बॉलीवुड व फोग गीतों को गाया और शानदार नृत्यु की प्रस्तुती भी दी। कार्यक्रम में निदेशक आर के वर्मा ने 18 सालों के सफर को रेजोरेंस फेमली के आगेे बयां किया और उनके कीर्तिमानों व कठिन समय के बारे में विस्तार से बताया। कार्यक्रम का शुभारंभ विधिवत दीपप्रज्जोलन श्री चंदा लाल वर्मा, श्रीमति गुलाब देवी, निदेशक आर के वर्मा, एचओडी आशीष शर्मा, शीशिर मित्तल, मनोज शर्मा, आयुष गोयल, के पी सर, सतीश सर ने किया। इस अवसर पर रेजोनेंस के संस्थापक और प्रबंध निदेशक आरके वर्मा ने कहा कि 18 वर्ष पहले 11 अप्रैल 2001 को हमने 1000 विद्यार्थियों से शुरूआत की थी। अपने 18 सालो के सफर में उन्होने फैक्लटी व स्टाफ की सराहना करते हुए परिवार को परदे के पीछे का कलाकार बताया जो हमेशा अपना काम करता रहता है और जो मुख्य कलाकार होता है उसकी मदद करता है। विद्यार्थी जो मुख्य कलाकार है उसकी सफलता का श्रेय परदे के पीछे के परिवार रोल है। इस कोचिंग सत्र में हम 1 लाख से अधिक विद्यार्थियों को कोचिंग ले रहे है। विभिन्न कोर्स को मिला कर इन 18 सालों में 7034901 स्टूडेंट ने रेजोरेंस से नाता जोडा है। 2001 में 3 क्लासरूम थे जो आज रोजोरेंस ने देश की चार बड़ी कोचिंग में अपना नाम शामिल करवा लिया हैं। इन 18 सालों में नीट, जेईई मेंन, एडवास केवीपीएम सहित देश विदेश में होने वाली विभिन्न प्रतियोगिता में संस्थान के बच्चों बेहतरीन प्रदर्शन कर किया है।इसके बाद शुरू हुए सांस्कृतिक कार्यक्रमों में संस्थापक वर्मा सहित विभागाध्यक्षों ने भी गीतों की सुमधुर प्रस्तुति दीं। नृत्य और गीतों के माध्यम से रेजोनेंस के कर्मचारियों और उनके परिजनों ने भी मन मोहक लिया। इस अवसर पर सीएल वर्मा ने रेजोनेंस में पांच वर्ष पूर्ण कर चुके कोटा के व अन्य अध्ययन केंद्रों के कर्मचारियों को तथा व दस वर्ष पूर्ण कर चुके कोटा के  व अन्य अध्ययन केंद्रों के कर्मचारियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। साथ ही विभिन्न उपलब्धियों के लिए भी अनेक कर्मचारियों को सम्मानित किया गया। रेजोनेन्स कर्मचारियों की खेलकूद प्रतियोगिताओं क्रिकेट, लॉन टेनिस, बेडमिंटन, टेबल टेनिस, शतरंज और कैरम के विजेताओं और उप विजेताओं को पुरस्कार दिए गए। समारोह में वर्मा की माताजी जीबी वर्मा, प्रबंधन के वरिष्ठ अधिकारी, शिक्षक, कर्मचारी और उनके परिजनों ने देर रात तक आनंद लिया।