अच्छे दिन आने वाले हैं लेकिन कब तक आएंगे : गहलोत

img

पाली
पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर बड़ा हमला करते हुए कहा कि अच्छे दिन आने वाले हैं लेकिन कब तक आएंगे, इस बात पर कोई जवाब नहीं दे रहे है। आज आम आदमी सरकार से यही पूछ रहा है। उन्होने अचानक फैसला लेेते हुए नोटबंदी लागू करने की मंशा पर सवाल उठाते हुए इसे देशवासियों के लिए बड़ा तकलीफ देह कदम बताया। नोटबंदी की वजह से जहां गरीब तबके के लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा, वहीं उद्योग-धंधो पर भारी नकारात्मक असर आज तक दिखाई दे रहा है। इसकी मार से आज भी औद्योगिक अर्थव्यवस्था कराह रही है। वे रविवार दोपहर को पाली जिला मुख्यालय पर कांग्रेस प्रत्याशी महावीरसिंह सुकरलाई के समर्थन में सूरजपोल लोढा स्कूल के बाहर आयोजित आम सभा को संबोधित कर रहे थे। गहलोत ने कहा कि वसुधंरा सरकार हर मोर्चे पर असफल सिद्ध हुई है। हाल ही मे राज्यभर में वसुंधरा द्वारा गौरवा यात्रा निकाली गई थी, वो गौरव यात्रा नहीं वो वसुंधरा की विदाई यात्रा के रूप में देखी जानी चाहिए। वसुंधरा सरकार में राजस्थान के विभिन्न पदों पर जैसे यूआईटी, सहकारी क्षेत्र में चेयरमेन के पद को लेकर करोडो रूपये की बोलियां लगाकर पदों की बंदरबांट की गई थी। इसी से यह अनुमान लगाया जा सकता है कि भाजपा सरकार में भष्ट्राचार किस कदर से फैला हुआ है। गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी की यह मंशा रही है कि स्वच्छ छवि और युवाओं को मौका मिलना चाहिए। इसी का परिणाम है आज पाली विधानसभा क्षेत्र से युवा उर्जावान, संघर्षशील कांग्रेस प्रत्याशी महावीरसिंह सुकरलाई को टिकट दिया गया है। सुकरलाई ने प्रदूषण की समस्या के लिए किसानों की मांगो को उच्च स्तर पर उठाकर उनके हितों की पैरवी की है। पिछले बीस वर्षो से भारतीय जनता पार्टी के विधायक ने इस समस्या के स्थायी समाधान के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया। यही वजह है कि इतने वर्षो के बाद भी यह समस्या जस की तस खडी है। उन्होनें कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में हजारों की संख्या में उपस्थित जनता से आह्वान किया कि वो कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में भारी मतदान कर विजयी बनावें, जिससे प्रदूषण की समस्या का स्थायी समाधान हो सके। कांग्रेस प्रत्याशी महावीर सिंह सुकरलाई ने अपने संबोधन में कहा कि अगर वो विजयी रहते है तो प्रदूषण समस्या समाप्त करने के लिए ईमानदारी से प्रयास करेंगे। यहां के उद्योग भी निरन्तर चलते रहे, साथ ही किसानों की भूमि भी बंजर नहीं हो। इस अवसर पर सभा में पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़, कांग्रेस जिलाध्यक्ष चुन्नीलाल चाडवास, पूर्व सभापति केवलचन्द गुलेच्छा, मांगीलाल गांधी, पूर्व जिलाध्यक्ष अज़ीज़ दर्द, प्रदेश सचिव सुमित्रा जैन, खेतसिंह मेड़तिया, नेता प्रतिपक्ष नगर परिषद भँवर राव, वरिष्ठ नेता मोटू भाई, सेवादल जिलाध्यक्ष मोहन हटेला, महिला जिलाध्यक्ष नीलम बिड़ला, जोगाराम सोलंकी एडवोकेट भागीरथसिंह राजपुरोहित, कृपाशंकर त्रिवेदी, पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष प्रकाश साँखला, पार्षद जीवराज बोराणा, जयसिंह सोकड़ा, जन्नत खोखर, सीताराम शर्मा, विनोद मोदी,मोहम्मद आलम, प्रवीण कोठारी, सम्पतराज भंडारी, ललित बोहरा, यशपालसिंह कुम्पावत, मदनसिंह जागरवाल, अमराराम पटेल, एडवोकेट चन्द्रभानुसिंह, प्रदेश आई टी सेल आमीन अली रंगरेज़, इब्राहिम सिलावट, भेराराम गुर्जर, प्रकाश चौधरी सहित कई पार्षदगण, जि़ला एवं ब्लॉक पदाधिकारी सहित भारी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।