फोर्टिस हेल्थकेयर ने असम के मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए एक करोड़ रुपये दिए

img

जयपुर
भारत के अग्रणी स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने वाले फोर्टिस हेल्थकेयर ने असम के मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए एक करोड़ रुपये का दान दिया है। ये मदद बाढ़ से प्रभावित लोगों की सहायता हेतु राज्य सरकार को समर्थन प्रदान करने के लिए दी गई है। कॉर्पोरेट सोशल रेस्पॉन्सिबिल्टी प्रमुख जेसरिता धीर की अगुवाई में फोर्टिस हेल्थकेयर की टीम ने आज दिल्ली में राज्य के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल से मुलाकात भी की। इस दौरान धीर ने जनसेवा के लिए फोर्टिस के संकल्प को दोहराते हुए मुख्यमंत्री सोनोवाल को चैक सौंपा। असम के राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अनुसार असम में आई भीषण बाढ़ से 33 में से 10 जिले प्रभावित हैं। अगर मीडिया रिपोर्ट की मानें तो बाढ़ से 50 लाख लोग प्रभावित हैं। जिनमें से 90 हजार लोग आश्रय के लिए राहत शिविरों की मांग कर रहे हैं। एएसडीएमए की साइट पर मौजूद ताजा आंकड़ों के अनुसार 4 अगस्त 2019 तक 91 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा प्रभावित जिले दारंगए बारपेटाए चिरांगए मोरीगांवए नगांवए होजाईए जोरहाट और काचर हैं। इनमें सबसे अधिक प्रभावित मोरीगांव है। इसके बाद बारपेटा का बुरा हाल है। जहां 9,554 और जोरहाट में 3,762 लोग प्रभावित हैं। हालांकि अब पानी का स्तर कम होता जा रहा है। लोगों ने अब अपने घरों की ओर लौटना शुरू कर दिया है। फिलहालए 2,816 लोग अभी भी चिंरागए मोरीगांवए नगांव और जोरहाट जिले के 11 राहत शिविरों में हैं। अभी भी 16,221 हैक्टेयर कृषि भूमि में बाढ़ का पानी भरा हुआ है। फोर्टिस हेल्थकेयर के सीएसआर की प्रमुख मिस जेसरिता धीर का कहना है "हम आभारी हैं कि हम आज माननीय मुख्यमंत्री सोनोवाल से मिले और राज्य सरकार द्वारा राहत और पुर्नवास के लिए किए जा रहे प्रयासों में  हमे यह नेक योगदान देने का अवसर मिला7 देश के सबसे अग्रणी स्वास्थ्य सेवा प्रदाता करने वाले के तौर पर फोर्टिस फ्रैटर्निटी सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए प्रतिबद्ध है। हमारी सीएसआर की पहल सामाजिक भलाई और समुदाय की आवश्यकता के लिए समर्पित है"।