कृषि प्रशिक्षणों में पोस्ट हार्वेस्टिंग मैनेजमेंट सहित उन्नत एवं आधुनिक तकनीक शामिल करें : पवन कुमार

img

जयपुर
कृषि एवं पशुपालन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पवन कुमार गोयल ने कहा कि किसानों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए विभागीय प्रशिक्षण कार्यक्रमों में पोस्ट हार्वेस्टिंग मैनेजमेंट सहित उन्नत एवं आधुनिक तकनीक को शामिल किया जाए। गोयल मंगलवार को जयपुर में दुर्गापुरा स्थित राज्य कृषि प्रबंधन संस्थान सभागार में संस्थान की 15वीं साधारण सभा और प्रबंध कार्यकारिणी की बैठक में अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे। अतिरिक्त मुख्य सचिव गोयल ने कहा कि विभाग का मुख्य ध्यान उन्नत खाद-बीज एवं उपकरण अनुदानित दरों पर उपलब्ध कराकर कृषि उत्पादन बढ़ाने पर रहा है। इसमें हमें आशातीत सफलता भी मिली है। इसके बाद हमारी मुख्य चिंता काश्तकार की आमदनी बढ़ाना है। इसमें उत्पादन के पश्चात् की गतिविधियां अर्थात् पोस्ट हार्वेस्टिंग मैनेजमेंट बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है। ऐसे में कृषि, उद्यानिकी एवं एग्रो बिजनस के क्षेत्र में दुनियाभर में हो रही आधुनिक गतिविधियों को प्रशिक्षण कार्यक्रमों में शामिल करें और उसके फायदे काश्तकार के खेत तक पहुंचाएं। गोयल ने प्रशिक्षण क्षमता बढ़ाने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम गैर आवासीय शुरू करने के साथ विकेन्द्रीकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अधिकतर कार्यक्रम जयपुर से बाहर कराएं और ओटीएस एवं कृषि विश्वविद्यालयों जैसी संस्थाओं से अनुबंध कर उनके संसाधनों का उपयोग करें। उन्होंने प्रशिक्षण कार्यक्रमों के सुदृढ़ीकरण के लिए 40 साल से कम उम्र के इच्छुक अधिकारियों को मास्टर ट्रेनर बनाने के लिए अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की ट्रेनिंग कराने के निर्देश दिए। साथ ही अन्य संस्थाओं के नई तकनीक एवं प्रबंधन जानने वाले विशेषज्ञों को बुलाएं। संस्थान की साधारण सभा में सदस्यों ने संस्थान को वास्तव में प्रबंधन संस्थान बनाने पर जोर देते हुए अपने सुझाव दिए। चर्चा के पश्चात् सदस्यों की योग्यता तय करने के लिए समिति का गठन करने और लगातार चार बैठकों में अनुपस्थित रहने वाले सदस्यों की सदस्यता समाप्त करने का निर्णय लिया गया। बैठक में आरएसीपी निदेशक श्री ओमप्रकाश, राज्य कृषि प्रबंधन संस्थान के निदेशक श्री आरपी कुमावत, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एग्रीकल्चर एक्सटेंशन मैनेजमेंट हैदराबाद की उप निदेशक डॉ. जी जया सहित कृषि एवं संबद्ध विभागों के उच्चाधिकारी उपस्थित थे।