जिला कलक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक

img

जयपुर
राजस्व अधिकारियों की बैठक जिला कलक्टर जगरूप सिंह यादव की अध्यक्षता में मंगलवार को जिला कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई। जिला कलक्टर ने राजस्व अधिकारियों से कहा कि उनके न्यायालय में विचाराधीन राजस्व प्रकरण से संबंधित प्रकरणों का प्राथमिकता से निवारण करें ताकि आम जन को उसका लाभ मिले। उन्होंने कहा कि विधानसभा प्रश्नो का समय पर उत्तर भिजवााए और आमजन की समस्या सुनने के लिए मुख्यालय पर रहे ताकि उनकी समस्या सुन सकें। अधिकारी नहीं रहे तो जो कार्मिक या अधिकारी कार्यालय में रहना चाहते है लोगों की समस्या सुने। उन्होंने कहा कि हमे जनता के प्रति जवाबदेही, संवेदनशील, व जागरूक रहना चाहिए ताकि जनता को सरकार की योजनाओं का लाभ मिल सके तथा इस प्राथमिकता से अमल में करना है। उन्होंने कहा कि उनके कार्यालय में जन अभाव अभियोग प्रकरण, चार दिवारी प्रकरण, अतिक्रमण, 90ए के मुकदमों तथा बैदखली, खेतों के रास्ते का निस्तारण, वरिष्ठ नागरिकों के भरण पोषण अधिकार, प्रत्येक ग्राम पंचायत में सौ-सौ पौधे लागाना सुनिश्चित करना है। यादव ने बताय कि सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों का निस्तारण करने। सिविल कोर्ट के बकाया प्रकरणों का निस्तारण करने, मूृटेशन का निस्तारण, बकाया जांच निस्तारण करने, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के लिए भूमि आवंटन, राजस्व भूमि से अतिक्रमण हटाने, राजकीय कार्यालयों व उपकोष कार्यालय के लिए भूमि आवंटन करने, जीएसएस को भूमि आवंटन करने, स्कूलों के लिए खैल मैदान, लोकायुक्त के बकाया प्रकरणों का निस्तारण करने, मुख्य मंत्री कार्यालय से लम्बित प्रकरणों का निस्तारण करने, लोकायुक्त सचिवालय के सतकर्ता शाखा के बकाया प्रकरण एवं संस्थापक शाखा में बकाया जांच, आंतरिक जांच। ऑडिट प्रकरणों का निस्तारण करने। भू राजस्व की वसूली तहसील स्तर पर एवं सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों का निस्तारण करने के निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रथम) श्री इकबाल खांन, अतिरिक्त जिला कलक्टर (द्वितीय) श्री पुरूषोत्तम शर्मा, अतिरिक्त जिला कलक्टर (तृतीय) श्री हिम्मत सिंह बारहठ, अतिरिक्त जिला कलक्टर (चतुर्थ) श्री अशोक शर्मा, अतिरिक्त जिला कलक्टर (पूर्व) श्री राजीव कुमार पाण्डेय, अतिरिक्त जिला कलक्टर (दक्षिण) श्री धारा सिंह मीना, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्रीमती भारती दीक्षित, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री गोपाल सिंह एवं एसडीएम व तहसीलदार, राजस्व अधिकारी मौजूद थे।