जयपुर में स्मोकिंग जोन के बाहर हुक्का परोसने पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

img

जयपुर
राजस्थान हाईकोर्ट ने जयपुर शहर के हुक्का बार, रेस्टोरेंट या होटल में स्मोकिंग जोन के बाहर हुक्का परोसने पर रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने स्मोकिंग जोन के भीतर किसी प्रकार का खाना परोसने पर भी रोक लगाते हुए राज्य सरकार को कोटपा कानून की सख्ती से पालना कराने के आदेश दिये है। जस्टिस मोहम्मद रफीक और जस्टिस नरेन्द्रसिंह ढड्डा की खण्डपीठ ने जनहिताय—जनसुखाय संस्था की ओर से दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए ये आदेश दिये हैं. हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि सरकार कोटपा कानून का उलंघन करने वाले बार—रेस्टोरेंट के फूड लाईसेंस रद्द करे। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने हुक्का सर्व करने वाले बार को हुक्के पर स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होने से जुड़ी चेतावनी और हुक्के में मौजुद तंबाकू की मात्रा लिखने के आदेश दिये है।

हुक्के पर प्रतिबंध को लेकर बिल पास:                                                                                                                          गौरतबल है कि राज्य सरकार ने हाल ही में राज्य में हुक्के पर प्रतिबंध को लेकर बिल पास किया है। सिगरेट और अन्य तम्बाकू उत्पाद विधेयक के जरिए सरकार ने हुक्का बार पर पाबंदी का प्रावधान किया है। हुक्का बार चलाने पर 1 साल से लेकर तीन साल तक की सजा और 50 हजार से लेकर 1 लाख रुपए तक के जुर्माने का भी प्रावधान किया गया है। विधानसभा से पारित होने के बाद इस विधेयक को फिलहाल राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेजा जाना है।