पूरी दुनिया का हित हो, ऐसी व्यावहारिक सोच बनायें: मिश्र

img

छोटे-छोटे उद्योग लगाकर सामाजिक संतुलन बनायें

जयपुर
राज्यपाल कलराज मिश्र ने रविवार को जयपुर में रामदास अग्रवाल मार्ग के लोकार्पण और अन्तर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन की राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक के उद्घाटन सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा कि छोटे-छोटे उद्योग लगाकर सामाजिक संतुलन बनायें और मध्यम व बड़े उद्योग लगाकर क्षेत्रीय असंतुलन को समाप्त किया जा सकता है। राज्यपाल का मानना था कि उद्योगों में युवाओं को आगे लाना होगा और उनके नवाचारों को बढ़ावा देना होगा ताकि देश का विकास हो सके। इस अवसर पर राज्यपाल ने रिमोट से रामदास अग्रवाल मार्ग का लोकार्पण किया। राज्यपाल ने कहा किरामदास अग्रवाल उनके घनिष्ठ मित्र थे। वे सिद्धांत और संगठन दोनों के प्रति पूर्ण समर्पित रहे। सिद्धांतों के साथ उन्होंने कभी समझौता नहीं किया। राज्यपाल ने अग्रवाल को नमन कर श्रद्धांजलि अर्पित की। 
समारोह में राजस्थान विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता गुलाब चन्द कटारिया ने कहा कि रामदास जी एक पाठशाला थे। समारोह को सांसद रामचरण बोहरा, टी.जी. वैंक्टेश, श्याम जाजू, विधायक कालीचरण सर्राफ और जयपुर नगर निगम के मेयर विष्णु लाटा ने सम्बोधित किया। समारोह में रामदास अग्रवाल की पत्नी मानवती अग्रवाल भी मौजूद थी। कार्यक्रम में उद्योगपति दामोदर दास मोदी को लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजा गया। महासम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने कार्यक्रम की जानकारी दी। प्रदेश अध्यक्ष डॉ. एस.एस. अग्रवाल ने स्वागत उद्बोधन दिया और आभार गोपाल गुप्ता ने व्यक्त किया।

राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि समाज के सभी वर्ग मिल-जुलकर परिश्रम, संकल्प और समर्पण के साथ देश को आगे बढ़ाने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि लोगों को अपनी सोच बदलनी होगी। ऐसी व्यावहारिक सोच बनानी होगी, जिससे पूरी दुनिया का हित हो। मिश्र ने कहा कि खेती सभी वर्ग के लोग करते हैं, जिन्हें किसान कहा जाता है और व्यापार में भी सभी वर्ग के लोग हैं, जिन्हें व्यापारी कहा जाता है।