मोदी झूठ बोलकर देश में भ्रम का माहौल बना रहे : गहलोत

img

भीलवाड़ा
जैसे जैसे मतदान के दिन पास आने लगे है, वैसे वैसे आरोप प्रत्यारोप का दौर भी तेज होता जा रहा है। आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पीएम मोदी पर सीधा हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि मोदी झूठ बोल कर उनकी व्यक्तिगत छवि को गिराने की कोशिश कर रहे है। सीएम गहलोत माण्डल में कांग्रेस प्रत्याशी रामपाल शर्मा के समर्थन में आमसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी लोगों और किसानों को गुमराह ही नहीं कर रहे हैं, बल्कि झूंठ बोल रहे हैं कि राजस्थान में किसानों के कर्जे माफ नही हुए। हमने तीन महीने में ही किसानों के कर्जे माफ कर उन्हें सर्टिफिकेट दिये हैं। उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव के बाद फिर किसानों के कर्जे माफ किये जायेंगे। जो प्रधानमंत्री झूंठ बोलता है, उससे देश के लोकतंत्र को खतरा है। उनके नेतृत्व में देश को भी खतरा है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र का कायदा होता है, सभाओं में किसानों ,छात्रों और अन्य लोगों का विकास कैसे हो इस पर चर्चा हो लेकिन पीएम नहीं करेंगे, वे तो भड़काने की बात करते हैं। विकास और काम की बात नहीं होती। भाजपा के लोग चुनाव आते ही राममंदिर की बात करेंगे। सेना के पराक्रम की बात करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश की जनता और किसानों को गुमराह ही नहीं किया बल्कि झूंठे वादे भी किये हैं। वे लोगों को गुमराह कर वोट बटोरने का प्रयास कर रहे हैं। गहलोत ने आक्रामक होते हुये कहा कि मोदी ने पांच साल राज किया, लेकिन इस दौरान वे विदेश ही घूमे हैं। न शिक्षा और नही किसानों के विकास पर ध्यान दिया। मोदी की तरह हम झूंठ नहीं बोलते हैं। राहुल गांधी ने कहा है कि जो कहेंगे वो हम करेंगे। हम, पांच साल तक लोगों की सेवा करेंगे। कोई रोक नहीं सकता। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को ऐसे सपने आते हैं, वे मनगढ़ंत बाते करते हैं। देश में घृणा और नफरत का माहौल है। उन्होंने कहा कि भाजपा राष्ट्रवाद पर राजनीति करती है। उन्होंने कहा कि पांच साल तक बिजली के दाम नहीं बढ़ेंगे। पानी के बिल निशुल्क दिये गये हैं। अब कोई बिल नहीं आयेगा। हार्ट, कैंसर और किडनी की दवायें सरकार फ्री दे रही है। उन्होंने जनता से आग्रह किया है कि वे, भाजपा की बातों में न आये। गुमराह न हो। उन्होंने पूछा कि अच्छे दिन आने की बात कही थी, लेकिन क्या अच्छे दिन आये। उन्होंने कहा कि वे पुरानी बातें भूल गये और नई बातें लेकर आये हैं। गहलोत ने मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मन की बात सुनाओ मत, मन की बात किसानों, गरीबों और मजदूरों से सुनों। गहलोत ने कहा कि प्रदेश में विकास की योजनाओं को बंद कर दिया है। सरकार बदलती है, लेकिन विकास के काम बंद नहीं होते हैं। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने विश्व की सबसे बड़ी रोजगार योजना मनरेगा बनाई। इससे पूर्व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडेय ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि यह चुनाव राहुल गांधी और मोदी का चुनाव नहीं, यह चुनाव है संविधान को बचाने का चुनाव। सभा को माण्डल विधायक रामलाल जाट ने सम्बोधित करते हुए कहा कि अशोक गहलोत ने पिछले कार्यकाल में चंबल के पानी की साढ़े सात सौ करोड़ भीलवाड़ा के लिए स्वीकृति दी, जिसे बढ़ाकर पूरे जिले में चंबल के पानी की सुविधा उपलब्ध करवाई। आमसभा को अविनाश पांडेय, घनश्याम तिवाड़ी, रामपाल शर्मा, धीरज गुर्जर आदि ने भी संबोधित किया।