सदन में गूंजा एक देश एक चुनाव का मुद्दा

img

  • निर्दलीय बलजीत यादव ने उठाया मुद्दा, कहा, शहीद की पत्नी को ही मिलता है पैकेज, शहीद के माता पिता को होती है परेशानी
  • सैनिक कल्याण मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावस ने कहा, शहीद के माता—पिता को 3 लाख रुपए देने का प्रावधान किया है, पेंशन बढ़ाकर तीन हजार की है 
  • सिरोही के 51 प्राचीन मंदिरों के फैमिली ट्रस्ट बने और गड़बडिय़ों का मामला सदन मेेंं गूंजा 
  • ज्ञानचंद पारख ने धनाकर्षण प्रस्ताव के जरिए उठाया मुद्दा, कहा, बिजली दुर्घटनाओं के पाली में 17 मामले जिनमें मुआवजा नहीं मिला

जयपुर
विधानसभा में शून्यकाल के दौरान एक देश एक चुनाव की मांग गूंजी। भाजपा विधायक अशोक लाहोटी ने शून्यकाल के दौरान मामला उठाते हुए शहरी निकाय औ पंचायतीराज के चुनाव एक साथ करवाने की मांग उठाई। लाहोटी ने कहा कि आचार संहिता की वजह से बहुत सा वक्त बर्बाद होता है इसलिए निकाय व पंचायत चुनाव साथ हों तो बहुत फायदा होगा। भाजपा विधायक विधायक मदन दिलावर ने ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के जरिए श्मसान घाट, खेल मैदान के लिए जमीन आवंटन और अतिक्रमण का मामला उठाया। दिलावर ने कहा कि मिट्टी के बर्तन बनाने वालों को भी जमीन आवंटित की जाए और श्मसान, खेल ग्राउंड की जमीनों से अतिक्रमण हटाए जाए। इसके जवाब मेंं राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने कहा कि श्मशान और कब्रिस्तान पर कोई अतिक्रमण होता है तो राजस्व विभाग प्राथमिकता से हटाने का प्रयास करेगा, श्मशान और कब्रिस्तान के लिए भूमि आवंटन के प्रस्ताव आएंगे तो सरकार प्राथमिकता देगी। भाजपा विधायक ज्ञानचंद पारख ने बिजली तंत्र से होने वाली दुर्घटनाओं का मामला सदन में उठाया। कहा, बिजली से होने वाली दुर्घटनाओं की रोककथाम के साथ साथ पीड़ित लोगों को समय पर मुआवजा दिलाने की व्यवस्था हो। ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला ने इस पर कहा कि दुर्घटना की जांच करवाई जाती है, विधायक ज्ञानचंद पारख ने कहा कई प्रकरण ऐसे होते हैं जिसमें जांच करने वाला अधिकारी बिजली तंत्र की कमी मानता ही नहीं और इससे पीडि़तों को मुआवजा नहीं मिल पाता। पाली जिले में 17 प्रकरण है जो शार्ट सर्किट के कारण विद्युत दुर्घटना होने पर मृत्यु हुई है। ऐसे प्रकरण में मुख्यमंत्री सहायता से दिलवाए। विधानसभा अध्यक्ष डॉक्टर सीपी जोशी ने मंत्री से कहा किसी न किसी रूप से पीडि़तों को सहायता मिलनी चाहिए इस बारे में निर्देशित करें। निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने सिरोही जिले के मंदिरों में नागरिक सुविधाओं के अभाव और कलेक्टर की रिपोर्ट पर कार्रवाई नहीं किए जाने का मामला उठाया। लोढ़ा ने कहा कि 51 मंदिर पब्लिक ट्रस्ट में बनने के बजाय फैमिली ट्रस्ट में बने हुए हैं, 1425 के आसपास इन मंदिर का निर्माण हुआ था राज्य सरकार इस पर कार्रवाई करे। इस पर देवस्थान मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने कहा कि राजस्थान लोक न्यास की धारा के तहत देवस्थान बोर्ड सिरोही के इस मामले में जांच करवाई जाएगी। निर्दलीय विधायक बलजीत यादव ने शहीद के माता पिता को पैेकज नहीं मिलने का मुद्दा उठाया। बलजीत यादव ने कहा कि शहीद की पत्नी के पुनर्विवाह करने पर उसके माता पिता की स्थिति और खराब हो जाती है, पैकेज केवल शही की पत्नी को ही मिलता है। सैनिक कल्याण मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि शहीद के माता पिता को 3 लाख रुपए देने का प्रावधान किया है, पेंशन भी 1500 से बढ़ाकर 3000 रुपए प्रतिमाह की गई है।