सर्विस सेक्टर में डिजीटल ट्रांसफॉर्मेशन का उपयोग जरूरी

img

जयपुर
एमिटी यूनिवर्सिटी राजस्थान में दो दिवसीय एच.आर. कॉनक्लेव 2019 का समापन हुआ हुआ। कॉनक्लेव का आयोजन कार्पोरेट रिसोर्स सेंटर के तत्वावधान में किया गया। इस कॉनक्लेव में प्रोफेशनल्स ने अपने विचार रखते हुए कहा कि डिजीटल ट्रांसफार्मेशन को भविष्य में वर्कफोर्स पर किस प्रकार एप्लाई किया जाए। एच.आर. कॉनक्लेव में देश के जाने-माने सीईओ और कार्पोरेट जगत की हस्तियों ने भाग लिया। जिनमें प्रमुख रूप से देव झा, राजकमल चौहान, सुकान्ता कुमार नायक, सुरेश कुमार, डॉ. अनिल कुमार मिश्रा, डॉ. स्वरूप सिन्हा, नमिता व्यास, तानिया चटर्जी प्रमुख थे। एच.आर. कॉनक्लेव में प्रोफेशनल्स ने संबोधित करते हुए कहा कि आज के समय में प्रतिस्पर्धा के दौर में बिजनेस में डिजीटल ट्रांसफार्मेशन की भूमिका क्या हो सकती है पर भी अपने विचार रखे। कॉनक्लेव में सभी प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट प्रोफेसर (डॉ.) अरूण पाटिल ने बताया कि आज के समय में डिजीटलीकरण को वर्कप्लेस में किस प्रकार उपयोग किया जाए। सभी तबके के लोगो को समय के साथ-साथ अपने आपको अपडेट कर लेना चाहिए नहीं तो आज के समय में प्रतिस्पर्धा में टिक पाना मुश्किल होगा। इसके बाद प्रोफेशनल्स ने अपने संबोधन को आगे बढ़ाते हुए कहा कि आज के समय में सभी कंपनियां अपने स्टॉफ के साथ बेहतर रिलेशनशिप के साथ उनकी ट्रेनिंग पर भी जोर दे रही है। प्रो. प्रेसीडेंट प्रोफेसर (डा.) अमित जैन ने दूसरे दिन कार्यक्रम की विस्तार से जानकारी दी।