बीसलपुर बांध का जलस्तर हुआ 315.19 आरएल मीटर, कभी भी छलक सकता है पानी, 54 गांवों में अलर्ट

img

जयपुर
प्रदेश की राजधानी गुलाबी नगरी सहित अजमेर व दौसा की प्यास बुझाने वाले बीसलपुर बांध में पानी की लगातार आवक जारी है। रविवार शाम चार बजे तक बांध का जलस्तर 315.19 आरएल मीटर पहुंच गया। इससे बांध की भराव क्षमता का लगभग 95 प्रतिशत हिस्सा फुल है। वहीं, बनास नदी से बांध से लगातार पानी की आवक जारी है। इससे बांध में हर घंटे 2 सेमी जल स्तर बढ़ रहा है। इससे सोमवार दोपहर तक बांध पर चादर चलने की संभावना है। विभाग के एडिशनल चीफ इंजीनियर रवि सोलंकी ने बताया कि रविवार को बारिश नहीं होने से बांध में पानी की आवक कम हुई है। ऐसे में जल स्तर में बढ़ोत्तरी भी धीमी हो गई है। बांध के पूरा भरे के बाद ही गेट खोलने के बारे में फैसला लेंगे। ऐसी स्थिति में प्रशासन ने किसी भी तरह की जान माल के नुकसान से बचने के लिए सवाई माधोपुर जिले में चौथ का बरवाड़ा, बौंली, मलारना डूंगर, खंडार और सवाई माधोपुर तहसील के 54 गांवों में स्थानीय निवासियों को अलर्ट जारी किया है। इस संबंध में जल संसाधन खंड, सवाई माधोपुर के अधीशाषी अभियंता ने जिला कलेक्टर सहित इन तहसीलों से संबंधित उपखंड अधिकारियों को रविवार को एक पत्र लिखा है। जिसमें बताया कि टोंक जिले की देवली तहसील में स्थित बीसलपुर बांध का लेवल 315.19 मीटर पहुंच गया है। इस बांध की भराव क्षमता 315.50 मीटर है। बांध में लगातार पानी की आवक जारी रहने से रविवार देर रात तक चादर चलने की संभावना है। इससे बांध के नीचे बनास नदी में पानी का लेवर बढ़ेगा। नदी में बहाव की स्थिति में आसपास के 54 गांव प्रभावित हो सकते है। ऐसे में प्रशासन के द्वारा इन स्थानीय निवासियों को अलर्ट करवाया जाए। अधिशाषी अभियंता के इस पत्र के बाद प्रशासनिक अमला इस कवायद में जुट गया। वहीं, रविवार को छुट्टी होने से वहां पहुंचने वाले पर्यटकों की संख्या अचानक बढ़ गई। इससे रविवार को बांध पर जाने वाले रास्ते में ट्रेफिक जाम रहा। इसके लिए पुलिस बुलानी पड़ी।