फ्री नहीं रही जियो से कॉलिंग, एयरटेल और वोडा-आइडिया भी करेंगे चार्ज

img

नई दिल्ली
रिलायंस जियो ने बुधवार को ऐलान किया कि अगर जियो के कस्टमर्स वोडा-आइडिया, एयरटेल के ग्राहकों को फोन करेंगे तो वह उनसे 6 पैसे प्रति मिनट चार्ज वसूल करेगा। ऐसा वह इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज (IUC) की भरपाई के लिए कर रहा है। हालांकि, इसके बदले वह अपने ग्राहकों को उतने का डेटा देगा। एयरटेल ने ट्राई से इसकी शिकायत की और कहा कि ऐसा IUC चार्ज को खत्म करने के लिए किया गया है। विशेषज्ञों का कहना है कि इसके बाद से वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल के वॉइस कॉल के लिए चार्ज कर सकते हैं। यानी आने वाले दिनों में मोबाइल पर मुफ्त कॉलिंग के दिन खत्म हो सकते हैं। रिलायंस जियो ने अपने ग्राहकों से दूसरे नेटवर्क पर कॉल करने पर 6 पैसे प्रति मिनट IUC चार्ज वसूलने का फैसला किया है। अब जियो ग्राहकों को किसी भी नेटवर्क पर कॉल करने के लिए अपने फोन में बैलेंस रखना जरूरी हो गया है। ऐनालिस्टों का कहना है कि अन्य कंपनियों के लिए टैरिफ बढ़ाने का यह मौका है।

टैरिफ बढ़ोतरी की संभावना
एसबीआई कैप सिक्योरिटीज के रिसर्च हेड राजीव शर्मा ने कहा कि कंज्यूमर्स से IUC रिकवर करने के जियो के निर्णय का असर अप्रत्यक्ष रूप से टैरिफ में बढ़ोतरी के रूप में सामने आ सकता है। उन्होंने कहा, 'एयरटेल और वोडाफोन आइडिया भी जवाब में अपने वॉयस रेट्स बढ़ा सकती हैं। इस तरह फ्री वॉयस टैरिफ का दौर खत्म हो सकता है।'

IUC चार्ज को लेकर विवाद गहराया
ऐनालिस्टों का कहना है कि इस तरह अब जियो के प्रतिद्वंद्वियों को भी मौका मिला कि वह अपने ग्राहकों से इस तरह का चार्ज वसूल कर सकें। हालांकि, यह ग्राहकों पर निर्भर करता है कि वह टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर के फैसले को किस रूप में लेते हैं। IUC चार्ज को लेकर विवाद लंबे समय से जारी है। जियो पर अन्य टेलिकॉम कंपनियां कई तरह के आरोप लगा रही है। ऐनालिस्टों का कहना है कि कई वर्षों तक तीखी होड़ के गवाह रहे टेलिकॉम सेक्टर में यह कदम टैरिफ बढ़ने की राह बना सकता है।

जियो के 35 करोड़ ग्राहकों पर IUC चार्ज लागू
बुधवार को मुकेश अंबानी की टेलिकॉम कंपनी ने कहा कि उसे अपने 35 करोड़ से ज्यादा यूजर्स से 6 पैसे प्रति मिनट का IUC की रिकवरी शुरू करने के लिए 'मजबूर' होना पड़ा है जिसका भुगतान उसे प्रतिद्वंद्वी कंपनियों को करना पड़ता है। हर वॉयस कॉल फ्री रखने का वादा कर चुकी कंपनी ने कहा कि टेलिकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया जब तक IUC को जीरो नहीं कर देता, तब तक उसे यह रिकवरी जारी रखने को 'मजबूर' रहना पड़ेगा। हालांकि कंपनी ने कहा कि वह इसकी भरपाई यूजर्स को अतिरिक्त डेटा देकर करेगी ताकि उनके लिए टैरिफ में कोई 'प्रभावी बढ़ोतरी न हो।' जियो से जियो, लैंडलाइन और वॉट्सऐप जैसे ऐप के जरिए की जाने वाली कॉल्स पहले की तरह फ्री रहेंगी।

whatsapp mail