दिसंबर-जनवरी में बर्फ की चादर ओढ़े रहता है शिमला, घूमने के लिए बेहतर समय 

img

स्नो फॉल यानी की बर्फबारी के लिए शिमला हर एक भारतीय के लिए सबसे प्रिय जगह है। हालांकि घूमने के लिए यहां हर महीने लोग आते रहते हैं, लेकिन सबसे ज्यादा यहां दिसंबर और जनवरी महीने में पर्यटक आते हैं। बर्फ की चादर ओढ़े शिमला में लोग अपने परिवार के साथ कुछ यादगार पल बिताना पसंद करते हैं।  क्रिसमस से लेकर न्यू ईयर यानी  25 दिसंबर से लेकर 1 जनवरी तक यहां लोगों की भीड़ ज्यादा नजर आती है। अगर आप भी सोच रहे हैं अपनी छुट्टियों को यादगार बनाने  के लिए आप शिमला और उसके आसपास के खूबसूरत जगहों पर टूर प्लान कर सकते हैं। शिमला की खूबसूरती का वर्णन शब्दों में पढऩे से ज्यादा वहां जाकर महसूस करना होगा। शिमला से करीब 22 किलोमीटर दूर है कूफरी। यहां की खूबसूरत वादियां लोगों को लुभाती हैं। सर्दी केे मौसम में इसकी खूबसूरती में चार-चांद लगाने का काम करते है बर्फ से ढंके पौधे जिन्हें देखकर लोगों का मन खुशी से झूम उठता है। कई पेड़ ऐसे भी होते है जिनके फूलों की महक लोगों को  बेेहद लुभाती है। चारों तरफ पहाड़ और बीच-बीच में लकड़ी के घर देखने लायक होते हैं।  
कुल्लू शिमला से लगभग 223 किलोमीटर दूर है। यह जगह पर्यटकों की पहली पसंद है। यहां की खूबसूरती हमेशा लोगों को अपने तरफ आकर्षित करती रही है। दूर-दराज से आए पर्यटक यहां से जल्दी जाने का नाम नहीं लेते हैं। यहां की हरियाली और छोटे-छोटे झीलों से बहता पानी लोगों के मन को लुभाता है। सुबह से शाम तक लोग यहां बैठे रहते हैं तो वहीं कुछ लोग अपने परिवार के साथ सेल्फी लेते नजर आते हैं। शाम के समय का नजारा और भी खूबसूरत होता है, जब मॉल रोड पर हर तरफ लोगों की भीड़ चहल -पहल करती नजर आती हैं। मॉल रोड़  पर लोग शॉपिंग करना पसंद करते हैं और पहाड़ों से कुछ यादगार समान अपने परिवार वालों और दोस्तों के लिए ले जाते हैं।  
हिमाचल प्रदेश की खूबसूरती में एक जगह ऐसा भी है जहां की खूबसूरती आध्यात्म की चादर से ढ़की हुई है। हम बात कर रहे हैं धर्मशाला की। इस स्थान को लोग छोटे ल्हासा भी कहते हैं।  दलाई लामा और उनके साथी के कारण यह स्थान ज्यादा फेमस बन गया है। बता दें यहां देश का सबसे खूबसूरत स्टेडियम है, जो साल 2005 में बनकर तैयार हुआ है। कई बार इस स्टेडियम में आईपीएल, टेस्ट व वन-डे मैच खेले गए हैं।  
शिमला से 240 किलोमीटर के दूरी पर बसा है मैक्लॉडगंज जिसने अपनी प्राकृतिक सुंदरता में तिब्बत और बुद्ध को अपने भीतर बसा लिया है। कहते है शिवलिंग पर्वत पर बसा यह जगह स्वर्ग से भी ज्यादा सुंदर है। यहां की खूबसूरती देखने लायक है। यहां पर कूदरत का अलग ही करिश्मा दिखता है। इस जगह को कुदरत ने इसे खूबसूरत बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। 
 

whatsapp mail